देहरादून: कथित प्रेम प्रसंग को लेकर चौकी में ही भिड़े दो समुदाय, पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज

उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी में सोमवार देर रात प्रेम प्रसंग के एक मामले में खूब फसाद हुआ. दो समुदाय के लोग चौकी घेरने पहुंचे तो पुलिस को तीन बार लाठीचार्ज करके सबको खदेड़ना पड़ा. इसमें कई लोगों को चोटें भी आई हैं. माहौल को देखते हुए इलाके में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है.

दरअसल सोमवार रात आराघर इलाके में भगत सिंह कॉलोनी निवासी एक युवक को बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने दूसरे संप्रदाय की मोहिनी रोड निवासी लड़की छेड़ने के आरोप पर जमकर पीट दिया. इसके बाद उसे आराघर चौकी में लाकर पुलिस के हवाले कर दिया. इसकी जानकारी जैसे ही लड़के के परिजनों को मिली तो वो भी आराघर चौकी में इकट्ठा हो गए.

इस दौरान उनकी बजरंग दल के कार्यकर्ताओं से तनातानी हो गई. माहौल गर्मा गया तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दोनों पक्षों को चौकी से खदेड़ दिया. देर रात तक पुलिस ने तीन बार दोनों संप्रदाय के लोगों पर लाठीचार्ज किया.

इससे कई लोगों को चोटें भी आयी हैं. देर रात तक सुरक्षा के मद्देनजर मोहिनी रोड और भगत सिंह कॉलोनी में भारी पुलिस बल और पीएसी तैनात रही. जिले के कई थानों की पुलिस बुला ली गई. देर रात तक क्षेत्र में तनाव था.

इसी साल फरवरी में लड़की ने उक्त लड़के के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया था. मामले में लड़की कोर्ट में जाकर अपने बयान से मुकर गई थी. बताया जा रहा है कि इसके बाद लड़का और लड़की में प्रेम संबंध बन गए.

सोमवार रात बवाल होने के बाद लड़का भी खुलकर सामने आ गया. उसने सबके सामने शादी की बात कुबूल की. उसने कहा कि वह उस लड़की से शादी कर चुका है. पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों को समझाने की भरसक कोशिश की, लेकिन दोनों अपनी बात पर अड़िग रहे.

दोनों पक्षों के दर्जनों लोग ईसी रोड और आराघर चौकी पर जमे रहे. स्थिति पर काबू पाने के लिए जिले के कई थानों की पुलिस और पीएसी मौके पर तैनात कर दी गई.

भारी विवाद और तीन बार लाठीचार्ज होने के बावजूद मौके पर एसएसपी नहीं पहुंचीं. स्थानीय लोगों का आरोप है कि कई बार मामले की सूचना देने का बावजूद एसएसपी नहीं पहुंची। कुछ लोगों ने उन पर संप्रदायिक विवाद को भी हल्के में लेने का आरोप लगाया.