शरद यादव में दम है तो पार्टी तोड़ कर दिखायें – नीतीश कुमार

शरद यादव के पार्टी तोड़ने वाले बयान पर नीतीश कुमार ने चुनौती दी है कि शरद पार्टी तोड़कर दिखाएं. नीतीश ने कहा कि अगर वह ऐसा करने के लिए जरूरी संख्या जुटा नहीं पाए तो उन्हें अपनी राज्यसभा सीट गंवानी पड़ सकती है. पार्टी की नैशनल काउंसिल के ओपन सेशन में बिना शरद यादव का नाम लिए नीतीश ने कहा, ‘क्या आपके पास जेडीयू को तोड़ने के लिए पर्याप्त संख्या है? क्या आपके पास दो तिहाई विधायक और सांसद हैं? याद रखें कि अगर आप पार्टी नहीं तोड़ सके तो आपकी राज्यसभा सदस्यता भी जाएगी.’

बता दें कि 2014 में राज्यसभा सांसद बनने से पहले शरद यादव सीमांचल क्षेत्र की मधेपुरा सीट से 4 बार लोकसभा सांसद रह चुके हैं. शनिवार को नैशनल एग्जिक्युटिव की मीटिंग में नीतीश कुमार ने जेडीयू के एनडीए में शामिल होने की घोषणा की. इस मीटिंग में सीमांचल क्षेत्र से आने वाले सारे विधायक भी मौजूद थे. वहीं दूसरी तरफ शरद यादव के 14 राज्यों की यूनिट्स का सपॉर्ट होने के दावे के विपरीत सभी 71 जेडीयू विधायक, 30 एमएलसी, 2 लोकसभा सांसद, 7 राज्यसभा सांसद और राष्ट्रीय स्तर के ज्यादातर नेताओं ने नीतीश की अध्यक्षता में हुई नैशनल एग्जिक्युटिव की मीटिंग में हिस्सा लिया.

नीतीश कुमार का यह बयान शरद यादव की ‘जन अदालत’ की प्रतिक्रिया के रूप में आया है. शरद यादव ने जेडीयू-बीजेपी गठबंधन के खिलाफ जन अदालत का आयोजन किया था. इससे दो दिन पहले ही कांग्रेस ने दिल्ली में एक बड़ा कार्यक्रम करके एनडीए के खिलाफ विपक्ष को एकजुट दिखाने की कोशिश की थी. शरद यादव इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण बने थे.