कश्मीरी व्यवसायी को 10 दिन की एनआईए हिरासत में भेजा

राजधानी की एक अदालत ने शुक्रवार को आतंकवाद और पथराव जैसी गतिविधियों के वित्त पोषण के लिए पाकिस्तान से धन लेने के आरोप में गिरफ्तार किए गए कश्मीरी व्यवसायी जहूर अहमद शाह वटाली को दस दिनों के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की हिरासत में भेज दिया. बंद कमरे की कार्यवाही में जिला न्यायाधीश पूनम बंबा ने वटाली को 28 अगस्त तक के लिए एनआईए को हिरासत में रखने की इजाजत दे दी.

वटाली को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था. वटाली पर कश्मीर घाटी में अलगाववादी और आतंकवादी गतिविधियों के लिए रकम पहुंचाने का का आरोप है.वह कथित तौर पर पाकिस्तान व प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों से धन जुटाता था और उसे कई हुर्रियत नेताओं को भेजता था.

एजेंसी ने जुलाई में सात अलगाववादियों को पाकिस्तान के वित्त पोषण से घाटी में अशांति फैलाने के मामले में गिरफ्तार किया था.एनआईए ने कहा कि वटाली कश्मीर के राजनेताओं के अलावा पाकिस्तानी नेताओं और साथ ही अलगाववादियों से अपने संबंधों के लिए जाना जाता है.सूत्रों ने कहा कि वटाली करीब दो महीने से एनआईए की जांच के घेरे में है और उसे गिरफ्तारी से पहले दिल्ली स्थित एजेंसी के मुख्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया था.

एनआईए के सूत्रों ने कहा कि एनआईए ने अदालत से कहा कि उसने कुछ संदिग्ध दस्तावेज जब्त किए हैं जो संपत्ति, बैंक खातों, वित्तीय लेनदेन से जुड़े हुए हैं. इसमें कुछ ऐसे लोगों के नाम हैं जिन्हें बड़ी मात्रा में नकदी दी गई है.विशेष लोक अभियोजक सिद्धार्थ लूथरा ने अदालत को बताया कि आरोपी से जब्त किए गए सामानों के बारे में पूछताछ की जानी है, जिसके विश्लेषण की भी जरूरत है. उन्होंने यह भी कहा कि वटाली जांच में सहयोग नहीं कर रहा है और उसे हिरासत में लेकर और पूछताछ करने की जरूरत है.बचाव पक्ष ने इसका विरोध किया और कहा कि वटाली जांच में सहयोग कर रहा है.

अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद वटाली को दस दिन की एनआईए हिरासत में भेज दिया