नरेंद्र मोदी ने इस मामले में पछाड़ा इंदिरा गांधी को

भले ही कांग्रेस और समूचा विपक्ष मोदी सरकार के खिलाफ एकजुट हो गया हो, लेकिन ओपिनियन पोल में खुलासा हुआ है कि 2019 के चुनाव में भी नरेंद्र मोदी का ही डंका बजने के आसार हैं. वहीं कांग्रेस की डूबती नैया को सहारा मिलता नहीं दिख रहा है.

ताजा सर्वेक्षण बताता है कि अगर आज चुनाव हुए तो एनडीए को 349 सीटें मिलेंगी, जो छह महीने पहले के सर्वेक्षण के अनुमान से 11 सीटें कम हैं. इसके विपरीत यूपीए को 75 सीटें मिलने का अनुमान है. अगर वोट फीसदी की बात करें तो सर्वे में एनडीए को 42 फीसदी और यूपीए को 28 फीसदी वोट मिल सकते हैं. गठबंधन को छोड़ पार्टी के हिसाब से सीटों पर नजर डालें तो बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी होगी जो अकेले ही बहुमत हासिल कर लेगी. सर्वे के मुताबिक, बीजेपी को 298 सीटें, कांग्रेस को 47 और अन्य को 198 सीटें मिल सकती हैं.

सर्वे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को पछाड़ दिया है. लोकप्रियता के मामले में अगस्त 2014 में हुए सर्वे में इंदिरा गांधी पीएम मोदी से 12 फीसदी आगे थीं. अभी हुए इस सर्वे में पीएम मोदी लोकप्रियता के मामले में इंदिरा गांधी से 16 फीसद आगे हो गए हैं. मोदी को 33 फीसदी लोगों ने पीएम के तौर पर सबसे बेहतर नेता माना वहीं इंदिरा गांधी को 17 फीसदी लोगों ने बेहतरीन पीएम माना.

सर्वे में अरुण जेतली की परफॉर्मेंस को सबसे ज्यादा पंसद किया गया है. अरुण जेतली की परफॉर्मेंस को 28 फीसदी, राजनाथ सिंह 26 फीसदी, सुषमा स्वराज 21 फीसदी, एम वैंकेया नायडू 16 फीसदी, नितिन गडकरी 14 फीसदी औरर सुरेश प्रभु की परफॉर्मेंस को 10 फीसदी लोगों ने पसंद किया. सर्वे में 23 फीसदी लोगों ने माना कि केंद्र की मोदी सरकार ने कालेधन पर बड़ा हमला किया है.

सर्वे में 21 फीसदी लोग 2019 के चुनाव में मोदी से मुकाबले के लिए विपक्ष के पीएम प्रत्याशी के रूप में राहुल गांधी सबसे बेहतरीन विकल्प मान रहे हैं. इसके बाद 13 फीसदी लोगों ने नीतीश कुमार पर भरोसा जताया है. 12 फीसदी लोगों ने सोनिया गांधी को बेहतर विकल्प माना. 22 फीसदी लोगों ने किसी भी तरह की राय नहीं दी.