बैंकों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल 22 अगस्त को

चेन्नई, यूनियम फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) ने बुधवार को कहा कि 22 अगस्त को प्रस्तावित राष्ट्रव्यापी हड़ताल होगी, क्योंकि मुंबई में इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) के साथ उसकी बातचीत बेनतीजा रही है. यह फोरम देश के बैंकिंग क्षेत्र की नौ यूनियनों का संघ है.

यूएफबीयू ने बैंकिंग सेक्टर के सुधार तथा अन्य मुद्दों के विरोध में 22 अगस्त को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है.

ऑल इंडिया बैंक इम्प्लाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) के महासचिव सी. एस. वेंकटचलम ने बताया, “हमारे द्वारा उठाए गए मुद्दों पर कुछ सकारात्मक नहीं निकला (बातचीत में), इसलिए हम 22 अगस्त को घोषित हड़ताल पर कायम हैं.”

ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (एआईबीओसी) के महासचिव डी. थॉमस फ्रैंको राजेंद्र देव ने बताया, “आईबीए ने हमारी मांगों के ठोस समाधान के बिना ही हड़ताल खत्म करने का अनुरोध किया था. इसलिए हम हड़ताल पर कायम हैं.” मुख्य श्रम आयुक्त ने फोरम को 18 अगस्त को नई दिल्ली में एक सशर्त बैठक के लिए बुलाया है.