मुख्यमंत्री ने नमामि गंगे परियोजना के अन्तर्गत गंगा संरक्षण रथ को किया रवाना

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास में नमामि गंगे परियोजना के अन्तर्गत गंगा संरक्षण रथ यात्रा के 04 रथों को हरी झण्डी दिखाकार रवाना किया.राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के अन्तर्गत चारों धामो के मार्ग पर गंगा संरक्षण एवं जन जागरूकता हेतु इन 04 रथों का संचालन कपाट बंद होने तक किया जायेगा. प्रथम रथ हरिद्वार से बद्रीनाथ, द्वितीय रथ रूद्रप्रयाग से केदारनाथ, तृतीय हरिद्वार से गंगोत्री तथा चतुर्थ धरासू से यमुनोत्री तक नियमित भ्रमण करते हुए लोगो को गंगा संरक्षण के प्रति जागरूक करेंगे. इन रथों में एलसीडी स्क्रीन के साथ ही प्रचार साहित्य इत्यादि भी उपलब्ध रहेगा.

मुख्यमंत्री  ने कहा की प्रधानमंत्री जी की गंगा की स्वच्छता और निर्मलता के प्रति जो प्रतिबद्धता है उसे पूरा करना है. गंगा के विशाल भूभाग में विस्तृत बेसिन में एक अभियान चला कर हमें गंगा को उसके प्राकृतिक स्वरूप में वापस लाना है. हमें गंगा को पूरी तरह प्रदूषण मुक्त करना है यह अभियान तब तक चलता रहेगा जब तक गंगा पूरी तरह स्वच्छ नहीं होगी. गंगा के प्रति लोगों की धार्मिक आस्था है. गंगा की महिमा अपरंपार कही गई है, इसे मोक्षदायिनी माना गया है. गंगा के प्रति करोड़ों हिंदुओं की आस्था के अतिरिक्त पूरी दुनिया में अनेक लोगों की भी आस्था है. असंख्य लोगों की गंगा के प्रति आध्यात्मिक दृष्टि है. हमें नमामि गंगा को सफल बनाना है. उन्होंने आशा व्यक्त की कि गंगा संरक्षण रथ यात्रा अपने लक्ष्य में सफल होगी.