सफाई के लिए नाले में उतरे डीएम साहब! पेश की मिसाल

एक डीएम की जिम्मेदारी यही होती है कि वह अपने जिले में सभी व्यवस्थाएं चाक चौबंध रखे. लेकिन यह कोई सोच भी नहीं सकता कि सफाई करवाने के लिए खुद नाले में उतरकर सफाई करके एक डीएम मिसाल भी पैदा कर सकता है.

स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले डीएम घिल्डियाल के नेतृत्व में रुद्रप्रयाग नगर के वार्ड 1 व दो में विशेष सफाई अभियान चलाया गया. इस दौरान अपर बाजार के मध्य में गुजर रहे बरसाती नाली में उतरकर डीएम स्वयं सफाई करने में जुट गए. हाथ में फावड़ा लेकर वे गंदगी हटाने लगे.

तभी रुद्रप्रयाग वन प्रभाग के डीएफओ व स्वजल के पर्यावरण विशेषज्ञ भी नाले में पहुंचे और साफ-सफाई में जुट गए.

करीब एक घंटे से अधिक समय तक ये लोग नाले की सफाई करते रहे. इस दौरान उन्होंने उप जिलाधिकारी व स्वच्छता अधिकारी को नाले के ऊपर किए गए अतिक्रमण को हटाने और पांच दिन में पुन: सफाई का निरीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा.

डीएम ने जलसंस्थान को सभी पाइपों को भूमिगत करने के निर्देश भी दिए. नगर पालिका अध्यक्ष राकेश नौटियाल, डिप्टी कलेक्टर, एसडीएम सदर मुक्ता मिश्रा सहित अन्य पालिका सभासद ने भी सफाई की.

उधर, ऊखीमठ में एसडीएम गोपाल सिंह चौहान, नगर पंचायत अध्यक्ष रीता पुष्पवाण, ईओ मोहन प्रसाद गौड के नेतृत्व में सफाई अभियान चलाया गया. केदारनाथ धाम में भी सेक्टर मजिस्ट्रेट पंकज नौटियाल के नेतृत्व में मंदिर परिसर से लेकर एमआई-26 हेलीपैड तक सफाई की गई.