रैश ड्राइविंग ने ली युवा बाइकर की जान, हेलमेट के कैमरे में कैद हुई घटना

नई दिल्ली, राजधानी की सड़क पर नई बाइक से रेस लगाने का जुनून एक युवा व्यवसायी के लिए जानलेवा साबित हुआ. युवक कनॉट प्लेस से दोस्तों के साथ घर लौट रहा था और अपनी करीब साढ़े पांच लाख कीमत की बेनेली टीएनटी 600आइ बाइक से रेस लगा रहा था. मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन के पास सड़क पार कर रहे एक बुजुर्ग से बाइक का हैंडल टकराने से युवक अनियंत्रित हो गया और बाइक समेत दीवार से जा टकराया. हादसे में युवक की मौके पर ही मौत हो गई और बाइक के परखच्चे उड़ गए.

नई दिल्ली जिला के डीसीपी बीके सिंह ने बताया कि हिमांशु बंसल (24) विवेक विहार फेज-2 में परिवार के साथ रहता था.झिलमिल में पिता की बर्तन की फैक्ट्री में वह हाथ बंटाता था. हिमांशु दोस्तों गाजी व लक्ष्य के साथ अपनी-अपनी बेनेली टीएनटी 600आई बाइक से कनॉट प्लेस गया था.रात करीब पौने नौ बजे लौटते हुए तीनों आपस में रेस लगाने लगे.गाजी और हिमांशु आगे थे, जबकि लक्ष्य पीछे था.करीब नौ बजे जब हिमांशु मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन पार कर रहा था, तभी कुछ दूरी पर एक बुजुर्ग सड़क पार कर रहे थे.रफ्तार तेज होने के कारण ¨हमाशु बाइक पर नियंत्रण नहीं कर पाया.उसने बुजुर्ग को बचाते हुए बाइक काटकर निकालने की कोशिश की, फिर भी हैंडल बुजुर्ग से टकरा गया और संतुलन बिगड़ गया.बाइक लेडी इरविन कॉलेज की दीवार से जा टकराई.गंभीर रूप से घायल हिमांशु को वहां से गुजर रहे राहगीरों ने एंबुलेंस से तुरंत लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल भिजवाया.यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

रेस लगाने का यह पूरा घटनाक्रम तीसरे दोस्त लक्ष्य के हेलमेट के कैमरे में कैद हो गया.लक्ष्य पीछे आ रहा था.हादसे में हिमांशु को सिर व शरीर के कई हिस्सों में गंभीर चोटें लग गई थीं.घटना के दौरान हिमांशु के बाइक की रफ्तार 150 किलोमीटर प्रतिघंटे से अधिक बताई जा रही है।

बाइक की रफ्तार का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बुजुर्ग से टकराने के बाद वह करीब 60 मीटर तक घिसटती रही.इस दौरान बाइक सड़क पर कई बार पलटी खाई जिससे उसके परखच्चे उड़ गए।

हिमांशु की मौत से पूरे घर में शोक की लहर है और हिमांशु के माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है.छोटे भाई की मौत से बेसुध बड़े भाई अंशुल बंसल ने बताया कि उनके घर से एक मुस्कुराता चेहरा चला गया.पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।