देवभूमि के सपूत शहीद रघुवीर सिंह को मरणोपरांत शौर्य चक्र

गैरसैंण (चमोली), देश रक्षा में दुश्मनों से लोहा लेते हुए अपना बलिदान देने वाले चमोली के लांस नायक रघुवीर सिंह को मरणोपरांत शौर्य चक्र से अलंकृत किया गया है. बता दें कि रघुवीर सिंह जम्मू- कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों से लोहा लेते हुए 12 फरवरी को शहीद हुए थे. वह अपने पीछे पत्नी रेखा और एक आठ साल के बेटे को छोड़ गए है.

आपको बता दें कि शहीद रघुवीर सिंह की प्रारंभिक शिक्षा चमोली के ही प्राथमिक विद्यालय में हुई. इंटर तक मैहचैरी में पढ़ने के बाद 2004 में वह महार रेजीमेंट में भर्ती हो गए. शहीद रघुवीर के पिता भी सेना से रिटायर हैं.

उनका कहना है कि बेटे के बिछड़ने का दुख तो हमेशा ही रहेगा लेकिन खुशी इस बात की है कि वह एक सच्चे सिपाही की तरह सीने पर गोली खाकर शहीद हुआ है. अब सरकार उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित कर रही है यह गर्व की बात है.