जनता दल यूनाइटेड अब होगा डिवाइडेड

नीतीश कुमार और शरद यादव के समर्थन में दो खेमों में बंट चुकी जेडीयू में हर दिन नए मोड़ आ रहे हैं. नीतीश समर्थक और जेडीयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने कहा है कि शरद यादव के लिए अभी भी पार्टी में दरवाजे बंद नहीं हुए हैं. पार्टी ने भले ही उन्हें राज्यसभा के पार्टी के संसदीय दल के नेता पद से हटा दिया हो लेकिन पार्टी उनकी वापसी को लेकर उम्मीद नहीं छोड़ रही हैं. वहीं खुद शरद यादव ने कहा- जनता दल यूनाइटेड की स्थापना उन्होंने की है, इसलिए इस पार्टी से उन्हें कोई भी नहीं निकाल सकता.

इससे पहले केसी त्यागी ने उनके पार्टी में वापस लौटने की उम्मीद जताई. लेकिन इसके साथ उन्होंने एक शर्त भी जोड़ दी. उन्होंने कहा कि शरद यादव स्वेच्छा से पार्टी से बाहर गए हैं. शरद के दावे से इंकार करते हुए कहा कि प्रत्येक पदाधिकारी और सभी विधायक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ हैं.

भाजपा के साथ हाथ मिलाने के फैसले का विरोध करने पर पार्टी ने यादव पर अपना हमला तेज कर दिया है. पार्टी ने कथित दल विरोधी गतिविधियों के आरोप में राज्य में उन 21 नेताओं को निलंबित कर दिया जो कि यादव के वफादार माने जाते हैं .