प्रियंका गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने की सुगबुगाहट

कांग्रेस पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा के बीच अटकलें लगाई जा रही थी कि राहुल गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष और प्रियंका गांधी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया जा सकता है. लेकिन सोमवार को प्रियंका गांधी की पीए पी सहाय ने कहा कि इस तरह की कोई चर्चा पार्टी के भीतर नहीं है। मीडिया में आई खबर पूरी तरह से मनगढ़ंत है. गौरतलब है कि अंग्रेजी अखबार डीएनए की एक खबर के अनुसार राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद भले ही मिल जाए लेकिन पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में कांग्रेस की कमान प्रियंका गांधी को सौंपी जा सकती है. रिपोर्ट के अनुसार दरअसल बीते 8 अगस्त (2017) को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक हुई थी.

बैठक भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर बातचीत के लिए बुलाई गई. बैठक में सोनिया गांधी ने पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं से पूछा कि क्या प्रिंयका गांधी को कांग्रेस का वर्किंग अध्यक्ष बनाया जा सकता है? इस मामले में सोनिया गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी पूछा. खबर के अनुसार ये सुनकर सभी वरिष्ठ नेता चौंक गए. लेकिन किसी ने इस प्रस्ताव पर अपना विरोध दर्ज नहीं किया.

बता दें कि तबीयत खराब होने की वजह से राहुल गांधी बैठक में शामिल नहीं हो सके थे. गौरतलब है कि लंबे समय से प्रियंका गांधी को पार्टी की कमान सौंपने की मांग उठती रही है. लेकिन सोनिया गांधी ने इस पर कोई फैसला नहीं लिया था. वरिष्ठ नेता पार्टी आलाकमान से कहते रहे हैं कि प्रियंका गांधी को पार्टी में कोई ना कोई पद तो जरूर दिया जाना चाहिए. बता दें कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी की संसदीय सीटों पर चुनाव अभियान की कमान लंबे समय प्रियंका ही संभालती आई हैं.