अपनी आखिरी रेस पूरी नहीं कर पाए बोल्ट, चोटिल होकर हुई दर्दनाक विदाई

कैरेबियाई धावक उसेन बोल्ट की विदाई बहुद ही दर्द भरी रही. शनिवार को बोल्ट अपने करियर की आखिरी रेस के लिए ट्रैक पर उतरे लेकिन वे मैच तो हारे ही साथ में घायल भी हो गए. दुनिया के इस महान एथलिट की फिकी विदाई ने सबको मायूस कर दिया. करीब 60,000 से भी ज्यादा लोगों से भरा स्टेडियम जमैकाई धावक उसेन बोल्ट की आखिरी रेस देखने के लिए आए थे लेकिन गोली की तरह दौड़ने वाले बोल्ट अपने अंतिम मैच में दौड़ते वक्त ट्रैक पर गिर पड़े और पूरे स्टेडियम में सन्नाटा छा गया.

उसेन बोल्ट 4X100 रिले रेस में 300 मीटर तक सबसे आगे चल रहे थे लेकिन रेस आखिरी दौर में वे अपने एक पैर को चोटिल कर बैठे और वहीं ट्रैक पर गिर गए. बोल्ट के गिरते ही ग्रेट ब्रिटेन 37.47 सेकेंड में रेस पूरी कर गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया. बोल्ट अपने आखिरी 100 मीटर की दूरी को तय करने में ग्रेट ब्रिटेन, अमेरिका और जापान तीनों से आगे थे लेकिन चोट ने उन्हें दौड़ में बाहर कर दिया. बोल्ट की विदाई बहुत ही दर्दनाक रही. रिले रेस में भाग लेने वाले बोल्ट के जमैकाई साथियों को हारने और बोल्ट के जाने का दर्द साफ दिख रहा था. मैच के बाद जमैकाई खिलाड़ी रो रहे थे तो वहीं पूरा स्टेडियम भी इस भयानक विदाई से आहत था. बोल्ट की इस चोट ने साबित कर दिया कि अब शरीर उनका साथ नही दे रहा है.

 

आठ बार ओलंपिक गोल्ड मेडल जीत चुके और 11 वर्ल्ड गोल्ड मेडल अपने नाम कर चुके इस महान एथलिट को 2008, 2009, 2011, 2012, 2013 और 2016 में वर्ल्ड एथेलिट ऑफ द इयर से नवाजा जा चुका है. दुनिया ने कई एथलिट देखे होंगे लेकिन रनिंग ट्रैक पर उसेन बोल्ट की जगह कोई नहीं ले पाएगा.