देहरादून : राजा ज्वैलर्स का मालिक बिहार के चोरों के साथ गिरफ्तार

देहरादून, दिन में कबाड़ बिनने और खाली घरों के ग्रील तोड़ कर चोरी करने वाले चोरी के गहने बेचते दो शातिर चोर और गढ़ी कैंट स्थित चोरी का सामान खरीदने वाले राजा ज्वेलर्स के मालिक राजा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि राजपुर थाना क्षेत्र में 31 जनवरी 2017 को संजीव घिल्डियाल निवासी भागीरथीपुरम राजपुर ने थाना हाजा पर आकर तहरीर दी कि अज्ञात चोरों द्वारा दिन के समय जब वह घर पर नही थे ग्रील उखाड़कर गहने आदि चोरी कर लिये हैं. वादी की तहरीर के आधार पर थाना हाजा पर मुअसं 19/17 धारा 380/454 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया, व 21 जुलाई किशवर शेख निवासी धोरण खास थाना राजपुर ने भी थाना हाजा पर आकर तहरीर दी कि अज्ञात चोरों द्वारा दिन के समय जब वह अपने होटल पर काम करने मसूरी गई थी तब अज्ञात चोरों द्वारा खिड़की तोड़कर गहने आदि चोरी कर लिये हैं. वादिनी की तहरीर के आधार पर थाना हाजा पर मुअसं 88/17 धारा 380 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया. उपरोक्त घटनाओं की गम्भीरता को देखते हुये वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती के आदेशानुसार पुलिस अधीक्षक नगर, एएसपी सदर व क्षेत्राधिकारी मसूरी के निर्देशन में थाना प्रभारी राजपुर हरिओमराज चौहान व एसओजी प्रभारी पीडी भट्ट के नेतृत्व में उपरोक्त घटनाओं के अनावरण हेतु टीमों का गठन किया गया. टीम द्वारा अज्ञात अभियुक्तो की तलाश उनके दिन के समय अपराध करने के तरीके व संदिग्धों की विडियो फुटेज के आधार पर की गई.

इस पर 11 अगस्त को मुखबिर की सूचना के आधार पर राजपुर पुलिस व एसओजी टीम द्वारा थाना कैन्ट क्षेत्र में राजा ज्वैलर्स के पास से दो अभियुक्त व ज्वेलर्स को चोरी के गहने बेचते व खरीदते गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार अभियुक्तों से उपरोक्त पुलिस टीमों द्वारा कड़ाई से पूछताछ की गई तो उन्होने बताया कि वह दिन के समय कबाड़ बिनने का काम करते हैं व बन्द घरों को चिन्हित करके मौका पाकर उनमें ग्रील या खिड़कियां तोड़ के चोरी करते हैं, और चोरी के गहने गोविन्द गढ़ थाना कैन्ट स्थित राजा ज्वैलर्स के मालिक राजा साह को बेचते हैं. अभियुक्त ने पूछताछ कर बताया कि उनके दो साथी बजरंगी व ननटून भी उनके साथ मिलकर बन्द घरों में चोरी करते हैं. वह अभी धोरण खास थाना राजपुर में चोरी के बाद से बिहार भाग गये हैं. अभियुक्तों ने पूछताछ पर बताया कि माह मई 2017 में खुड़बुड़ा मौहल्ले में दृगपाल सिंह पुत्र बिशन सिंह के घर पर दिन में हुई चोरी को करना भी स्वीकार किया है.

अभियुक्त मोनू ने पूछने पर बताया कि उसने और बंजरगीं व ननटून ने मिलकर वर्ष 2016 में हिंमाचल प्रदेश के शिमला में बन्द घर से 21 लाख रुपये चोरी किये थे, जिसमें मोनू जेल जा चुका है और बंजरगीं व ननटून अभी तक फरार हैं. अभियुक्त लक्ष्मण साहनी उर्फ पकोड़ी ने पूछताछ पर बताया कि वह वर्ष 2014 में थाना कैन्ट से तार चोरी में व वर्ष 2015 में डोईवाला से बन्द घर की चोरी में जेल जा चुका है. थाना राजपुर पुलिस द्वारा अभियुक्तों के अन्य पूर्व आपराधिक इतिहास व अन्य घटनाओं में संलिप्ता की जांच की जा रही है.पकड़े गये अभियुक्तों में मोनू पुत्र नरेश साहनी निवासी ग्राम गुडिहारी मस्तावापुर थाना बिसनपुर जिला दरभंगा बिहार, हाल निवासी- 4 नम्बर ट्यूबैल के पास ब्रहमपुरी पटेलनगर देहरादून, लक्ष्मण साहनी उर्फ पकोड़ी पुत्र दहाब साहनी नि0 ग्राम टीसीडी थाना बसवारा जिला दरभंगा बिहार, हाल पता- स्टेट बैंक के सामने वाली गली कांवली रोड़ लक्ष्मण, चौक देहरादून, राजा साह पुत्र सुट्टा सिंह निवासी पसौल थाना कटरा जिला मुजफ्फरपुर बिहार, हाल पता- राजा ज्वैलर्स गोविन्द गढ़ देहरादून (सुनार), फरार अभियुक्तों में बजरंगी पुत्र जिन्तु साहनी नि0 ग्राम मस्तावापुर थाना बिसनपुर जिला दरभंगा बिहार, ननटून उर्फ अजय पुत्र राम दुगार साहनी नि0 ग्राम मस्तावापुर थाना बिसनपुर जिला दरभंगा बिहार. अभियुक्तों के पास से बरामद सामान में एक कड़ा सोने का, पांच अंगूठी चांदी की, एक सोने की चेन, दो अंगूठी, एक बिछुआ चांदी का, एक झुमका, एक टॉप्स, एक अंगूठी सोने के, मांग टीका, एक टॉप्स सोने के.इस अभियान में अभियुक्तों को पकड़ने में शामिल टीम में हरिओमराज चौहान, थानाध्यक्ष राजपुर देहरादून, सब इंस्पेक्टर सुनील कुमार, सब इंस्पेक्टर उमेश कुमार, हेड कॉस्टेबल राकेश सेमवाल, कॉस्टेबल प्रमोद, राजेन्द्र परमार, अमित भट्ट, अरुण राठौर, दीपक, विपिन थे.