चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामला : विकास बराला ने वर्णिका कुंडू का पीछा करने की बात कबूली

चंडीगढ़, एक आईएएस अफसर की बेटी से छेड़छाड़ के मामले में गिरफ्तार हुए मुख्य आरोपी विकास बराला ने पुलिस की पूछताछ में स्वीकार किया है कि उसने वर्णिका कुंडू की कार का पीछा किया था. हालांकि पूछताछ में बराला ने इस बात से इनकार किया है कि उसने और उसके दोस्त ने वर्णिका कुंडू का अपहरण करने की कोशिश की. बता दें कि विकास बराला हरियाणा के बीजेपी चीफ सुभाष बराला का बेटा है. वही विकास और मामले के दूसरे आरोपी अशीष को बुधवार को पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन बुलाया गया था. इस दौरान उसे गिरफ्तार कर लिया गया गया था. पुलिस ने विकास के खिलाफ अपहरण की कोशिश की दो गैर-जमानती धाराएं भी जोड़ दी गई हैं, जिसके बाद आरोपी की गिरफ्तारी हुई. बता दें कि पुलिस ने इस मामले में घटना वाली रात के सीसीटीवी फुटेज बरामद किए थे, जिसमें विकास बराला वर्णिका की कार का पीछा करते हुए नजर आए थे.

चंडीगढ़ पुलिस के डीजी तेजिंदर सिंह लूथरा ने कहा कि विकास और उसके दोस्त आशीष पर अपहरण का केस दर्ज किया गया है। दोनों आरोपियों के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 160 के तहत केस दर्ज किया गया जबकि विकास बराला के खिलाफ आईपीसी की धाराओं 354डी(पीछा करना), 341(गलत इरादा रखना), 34 और 185 MV धारा(रैश ड्राइविंग) के मामले दर्ज किए गए हैं. बता दें कि 5 अगस्त को चंडीगढ़ पुलिस ने विकास बराला और उनके साथी को युवती से छेड़छाड़ के आरोप में अरेस्ट किया था, लेकिन उसी दिन उन्हें बेल मिल गई थी. उसी रात छोड़े जाने को लेकर सवाल उठने लगे थे, जिसके बाद सुभाष बराला ने केस में पुलिस पर किसी तरह का दबाव बनाए जाने की बात से इनकार किया था.

सुभाष बराला ने मामले को लेकर बुधवार को पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इस दौरान सुभाष बराला ने कहा कि उनका बेटा विकास पुलिस को जांच में पूरी तरह सहयोग करेगा और अगर वह जांच के दौरान दोषी भी पाया जाता है तो उस पर कानून कड़ी कार्रवाई करेगा. हालांकि, प्रेस कॉन्फ्रेंस के बीच में ही सुभाष बराला को उनके बेटे का फोन आया और वह कॉन्फ्रेंस अधूरी छोड़ बीच में ही उठकर चल दिए थे.