देश के मुसलमानों के मन में है बेचैनी-असुरक्षा की भावना: हामिद अंसारी

भारत के उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा कि देश के मुसलमानों के मन में बेचैनी है और वो अपनी सुरक्षा को ले कर डरे हुए हैं. अंसारी ने पीएम मोदी और कैबिनेट के समक्ष असहनशीलता का मामला उठाया है. हामिद ने यह टिप्पणी तब की है जब देश में कई हिस्सों में गोरक्षकों द्वारा हिंसा की खबरें आ रही हैं.

अंसारी ने कहा कि भारतीय नागरिकों की भारतीयता पर सवाल उठाना चिंतित करने वाला मामला है. अंसारी ने राज्यसभा टीवी में दिए गये अपने साक्षात्कार में बताया कि उन्होंने इस मसले पर अपना मन पीएम मोदी के साथ भी साझा किया है. जब अंसारी से पूछा गया कि सरकार की इस पर क्या प्रतिक्रिया रही तो उन्होंने कहा, ‘यूं तो हमेशा एक स्पष्टीकरण होता है और एक तर्क होता है. अब यह तय करने का मामला है कि आप स्पष्टीकरण स्वीकार करते हैं कि नहीं और आप तर्क स्वीकार करते हैं कि नहीं.’

इसके साथ ही उन्होंने गोरक्षकों की भीड़ द्वारा शक के बिनाह पर लोगों को पीट-पीट कर मार डालने की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा, ‘भारतीय मूल्यों का बेहद कमजोर हो जाना, सामान्य तौर पर कानून लागू करा पाने में विभिन्न स्तरों पर अधिकारियों की योग्यता का चरमरा जाना है और इससे भी ज्यादा परेशान करने वाली बात किसी नागरिक की भारतीयता पर सवाल उठाया जाना है.