एनटीपीसी कोई संकटग्रस्त परिसंपत्ति नहीं खरीदेगी : गोयल

नई दिल्ली, सरकारी बिजली कंपनी एनटीपीसी किसी तनावग्रस्त परिसंपत्ति की खरीद नहीं करेगी, लेकिन किसी अन्य द्वारा परिचालित परियोजनाओं की खरीद कर सकती है, अगर उसमें कारोबारी संभावनाएं हो. बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को यह बात कही. फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन (एफएलओ) द्वारा वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं से बात करते हुए गोयल ने कहा, “एनटीपीसी किसी तनावग्रस्त संपत्ति को नहीं खरीदेगी. अगर बैंक किसी तनावग्रस्त संपत्ति की बोली आमंत्रित करते हैं तो उसमें पीएसयू (सरकारी कंपनी) समेत हर कोई भाग ले सकता है.”

उन्होंने यह भी कहा कि दुनिया बिजली के वाहनों की ओर बढ़ रहा है और सरकार ऐसे रोडमैप पर काम कर रही है, ताकि इलेक्ट्रिक कारें देश में आए. गोयल ने इलेक्ट्रिक कारों के भविष्य पर कहा, “साल 2030 तक केवल इलेक्ट्रिक कार चलेगी.. मौजूदा कारों को बदलने के लिए थोड़ी देर लग सकती है. लेकिन सरकार एक ढांचे पर काम कर रही है यह देखने के लिए कि हम इलेक्ट्रिक वाहन को बढ़ावा देने पर क्या कर सकते हैं.”

उन्होंने यह भी कहा कि हालांकि हाइब्रिड कारों में ईधन की खपत में थोड़ा कमी आई है, लेकिन भारत इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देगा, क्योंकि यही भविष्य है. उन्होंने कहा, “यह (हाइब्रिड कार) ईधन की खपत को थोड़ा कम कर देती है लेकिन भविष्य में सभी इलेक्ट्रिक कार होंगी। मैंने वित्त मंत्री से यह भी सिफारिश की थी कि मध्यमार्गी प्रौद्योगिकी उचित नहीं है जो कि ईंधन की खपत को कम कर देता है. यह भविष्य नहीं है, भविष्य इलेक्ट्रिक कारों का है.”उन्होंने कहा, “दुनिया इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर बढ़ रही है और देश विद्युत वाहनों को बढ़ावा देगा.”