देवीधुरा में उमड़े हजारों भक्त, बग्वाल में 250 लोग घायल

रक्षाबंधन पर सोमवार को मां बाराही के खोली खांड मैदान में बग्वाल (पत्थर युद्ध) मात्र आठ मिनट चला. अपराह्न 2.43 बजे शुरू हुआ बग्वाल 2.51 बजे समाप्त हो गया. इसमें कुल 250 लोग घायल हुए हैं. सीएमओ एमएस बोरा के अनुसार सभी घायलों का इलाज किया गया है. किसी को गंभीर चोटें नहीं लगी हैं. शुरुआत में फलों की बग्वाल के बाद पत्थरों से बग्वाल खेली गई.

इसमें दोनों ओर से पथराव किया गया. बालिक खाम की ओर से बग्वाल खेलने उतरे भीमताल के विधायक रामसिंह कैड़ा भी घायल हो गए. उन्हें हाथ और पीठ में चोट लगी है. सीएमओ एमएस बोरा के अनुसार विधायक को सामान्य चोट लगी है.रक्षाबंधन पर चम्पावत जिले के देवीधुरा में पौराणिक बाराही धाम में होने वाले बग्वाल को देखने के लिए हजारों भक्त देवीधुरा पहुंचे. इससे पूर्व पौराणिक बाराही धाम में सुबह चार बजे से पूजा अर्चना चली. बग्वाल के चार खामों और सात द्योकों के लोग दो हिस्सों में बंटकर पत्थर युद्ध करते है.

हालांकि साल 2013 से पत्थरों की जगह फलों ने ली है. सोमवार सुबह चार बजे से यहां बाराही धाम में सुबह चार बजे से पूजा अर्चना चल रही है. सुबह शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय भी बग्वाल देखने देवीधुरा पहुंच गए. मां के डोले की पूजा संपन्न देवीधुरा के पौराणिक बाराही धाम में भक्तों का हुजूम उमड़ पड़ा.सुबह से ही विभिन्न राज्यों से भक्तों का तांता मंदिर में एकत्र होने लगा था. सुबह साढ़े सात बजे से शुरू हुई मां डोले की पूजा नौ बजे सम्पन्न हुई. उसके बाद डोला नंद गृह में स्थापित कर दिया गया.