कोलंबो टेस्ट : भारत पारी और 53 रन से जीता, सीरीज में अजेय बढ़त

कोलंबो|… गेंद के साथ लगातार कमाल कर रहे रवींद्र जडेजा (5-152) के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम ने सिंहली स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को श्रीलंका को एक पारी और 53 रनों से हरा दिया. 3 टेस्ट मैचों की सीरीज अपने नाम कर ली है. अभी सीरीज का एक टेस्ट खेला जाना बाकी है. टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम की यह लगातार 8वीं जीत है. 2015 के बाद से टीम इंडिया को कोई भी टीम टेस्ट सीरीज में मात नहीं दे पाई है.

मैच के चौथे दिन लंच के बाद भारत ने यह मैच अपने नाम कर लिया. इस पारी में रविंद्र जडेजा ने सबसे ज्यादा 5 विकेट अपने नाम किए. जडेजा के अलावा अश्विन और पंड्या को 2-2 और उमेश यादव को 1 विकेट मिला. श्रीलंका की ओर से ओपनिंग बल्लेबाज दिमुथ करुणारत्ने ने सबसे ज्यादा 141 रन बनाए. इस मैच में 70 रन की पारी खेलने और 7 विकेट (पहली पारी में 2 और दूसरी पारी में 5 विकेट) लेने वाले जडेजा को मैन ऑफ द मैच चुना गया. जडेजा और अश्विन दोनों ने इस मैच में हाफ सेंचुरी जड़ी और इसके अलावा दोनों ही गेंदबाजों ने 7-7 विकेट अपने नाम किए. अश्विन ने पहली पारी में 5 और दूसरी पारी में 2 विकेट झटके.

इस टेस्ट मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 622/9 बनाए थे. भारत की ओर से चेतेश्वर पुजारा (133) और अजिंक्य रहाणे (132) ने शतक जमाया था. इन दोनों के अलावा लोकेश राहुल (57), रविचंद्रन अश्विन (54), ऋद्धिमान साहा (67) और रविंद्र जडेजा (70) ने भी हाफ सेंचुरी लगाई थी. इसके जबाव में श्रीलंकाई टीम अपनी पहली पारी में 183 रन पर ढेर हो गई. श्रीलंका की इस पारी में विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशान डिकवेला (51) ही फिफ्टी जमा पाए थे. इस पारी में डिकवेला के अलावा उसका कोई भी बल्लेबाज 30 रन का आंकड़ा भी नहीं छू पाया था.

भारत के पास पहली पारी के आधार पर 439 रन बढ़त थी. इस बढ़त को देखते हुए टीम इंडिया ने श्रीलंका को फॉलोऑन दिया. अपनी दूसरी पारी में श्रीलंका ने पहले से बेहतर खेल दिखाया, लेकिन इसके बावजूद वह पारी की हार से खुद को नहीं बचा पाई. दूसरी पारी में कुसाल मेंडिस (110) और दिमुथ करुणारत्ने (141) ने शानदार शतक लगाए. इन दोनों खिलाड़ियों के शतक के बाद मैच का आकर्षण रविंद्र जडेजा बन गए. मैच में कुल 7 विकेट लेने वाले जाडेजा ने इस पारी में मेजबान टीम के 5 विकेट अपने नाम किए.

 

मैच के चौथे दिन श्रीलंका ने 209/2 से अपनी पारी को आगे बढ़ाया. श्रीलंका ने आज 29 रन ही जोड़े थे कि अश्विन ने 238 के स्कोर पर मलिंडा पुष्पकुमारा (16) को बोल्ड कर मेजबान टीम को तीसरा झटका दिया.श्रीलंका के टोटल में अभी 3 रन और जुड़े थे कि 241 के स्कोर पर कैप्टन दिनेश चंडीमल (2) रविंद्र जडेजा का शिकार बन गए. यहां से दिमुथ करुणारत्ने ने एंजेलो मैथ्यूज के साथ मिलकर एक बार फिर पारी को संभाला. दोनों बल्लेबाजों ने लंच तक श्रीलंका को कोई और झटका नहीं लगने दिया.लंच के बाद बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे दिमुथ करुणारत्ने जडेजा की बॉल पर अजिंक्य रहाणे को कैच थमाकर आउट हुए. दोनों बल्लेबाजों ने 5वें विकेट के लिए मिलकर 69 रन और जोड़े. इसके बाद एक बार फिर भारतीय टीम ने श्रीलंका को एक के बाद एक झटके देने शुरू कर दिए. 343 के योग पर 8 विकेट गंवा चुकी श्रीलंका ने 9वें विकेट के लिए भारत को कुछ जरूर तरसाया. लेकिन हार्दिक पंड्या ने 384 के स्कोर पर विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशान डिकवेला (31) को आउट कर दिया. इसके बाद अंतिम विकेट के रूप में नुवान प्रदीप को आउट करने में भारत ने ज्यादा देर नहीं लगाई और श्रीलंका की दूसरी पारी को 386 रनों पर समेट दिया.

श्रीलंका की पहली पारी में 183 रन पर समेटने में अश्विन का बड़ा हाथ रहा. उस पारी में इस स्टार गेंदबाज ने 69 रन देकर श्रीलंका के 5 बल्लेबाजों को अपनी फिरकी की जाल में फंसाया. पहली पारी में अश्विन के अलावा जडेजा और शमी ने 2-2 विकेट लिए, जबकि 1 विकेट उमेश यादव के नाम रहा. सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच पल्लीकेले में खेला जाएगा.