विजेंदर का मुकाबला चीनी मुक्केबाज जुल्फिकार मैमत अली से आज, बोले- जीतेगा भारत

भारतीय स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह शनिवार को मुंबई में जब चीन के जुल्फिकार मैमत अली से भिड़ेंगे तो उनका लक्ष्य अपने अजेय अभियान को बरकरार रखकर अपना दूसरा खिताब जीतना होगा. जिस तरह से सिक्किम में दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर है, इस मुकाबले पर दोनो ही देशों के लोगों की नजर रहेगी. 31 वर्षीय पूर्व ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता विजेंदर शनिवार को अपने नौवें पेशेवर मुकाबले और डब्ल्यूबीओ एशिया पैसेफिक सुपर मिडिलवेट और जुल्फिकार के डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट के रूप में दोहरा खिताब हासिल करने के लिए रिंग पर उतरेगे.

विजेंदर ने इस मुकाबले के लिए अपने ट्रेनर ली बीयर्ड के साथ मैनचेस्टर में कड़ा अभ्यास किया है. मीडिया से बातचीत में विजेंदर ने चीन के साथ तनाव का इशारा करते हुए कहा था कि वह अपनी जिम्मेदारी समझते हैं. मिली जानकारी के मुताबिक विजेंदर ने मुकाबले का पहला टिकट दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को उनके आवास पर जाकर दिया है. विजेंदर आत्मविश्वास से ओतप्रोत हैं और उन्होंने चीनी प्रतिद्वंद्वी को अनुभवहीन करार दिया. इस भारतीय मुक्केबाज ने वजन कराने के बाद कहा, ‘यह भारत बनाम चीन का मुकाबला है और मुझे कुछ कहने की जरूरत नहीं है. मैं बेहद उत्साहित हूं. मैं जानता हूं कि पूरा भारतवर्ष मेरे साथ है.’

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं और उम्मीद है कि यह अच्छा मुकाबला होगा और भारत जीतेगा. गुरुवार रात मैंने अपना वजन मापा तो यह 78 किग्रा था. मेरा वजन 76.2 किग्रा होना चाहिए और इसलिए मैंने कुछ नहीं खाया. आज मेरा वजन 76 किग्रा है. मुझे अपने खाने पर पूरा ध्यान देना होगा.’ इस भारतीय मुक्केबाज ने कहा कि वह अपने प्रतिद्वंद्वी के हिसाब से अपनी रणनीति तय करेंगे.

विजेंदर ने कहा, ‘वह कैसा खेलेता है मेरी रणनीति इस पर निर्भर करेगी. मैं उसी हिसाब से खुद को ढाल लूंगा. हमने तकनीक में काफी बदलाव किया है और हमने इस पर काम किया.’ आधिकारिक वजन शुक्रवार शाम को किया गया. शनिवार को कुल मिलाकर सात मुकाबले होंगे. इस दौरान ओलिंपियन अखिल कुमार और जितेंदर कुमार पेशेवर मुक्केबाजी में पदार्पण करेंगे.