कोलंबो टेस्ट : तीसरे दिन का खेल खत्म, करुणारत्ने-मेंडिस ने श्रीलंका को संभाला

कोलंबो|…. सिंहली स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय टीम के पहली पारी के 622 रनों के विशाल स्कोर के सामने मेजबान श्रीलंका की शुरुआत खराब रही और तीसरे दिन लंच के ठीक पहले श्रीलंका टीम पहली पारी में 183 रन बनाकर आउट हो गई. भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी 9 विकेट पर 622 रन का विशाल स्‍कोर बनाकर घोषित की थी. श्रीलंका की पहली पारी में निरोशन डिकवेला के 51 और एंजेलो मैथ्‍यूज के 26 रन की उल्‍लेखनीय रहे. मैच के तीसरे दिन श्रीलंका टीम ने दो विकेट पर 50 रन से आगे खेलना शुरू किया. तीसरे दिन की शुरुआत से ही टीम के विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया और पहले सेशन में ही टीम 183 रन पर ढेर हो गई. तो लगा था कि भारतीय टीम जल्‍द ही इस मैच में जीत हासिल कर लेगी. लेकिन दूसरी पारी में श्रीलंका के बल्‍लेबाजों ने जबर्दस्‍त संघर्ष किया. फॉलोआन का सामना करते हुए उपुल थरंगा तो जल्‍दी आउट हो गए लेकिन दिमुथ करुणारत्‍ने और कुसल मेंडिस ने दूसरे विकेट के लिए 191 रन की साझेदारी कर टीम इंडिया को लंबे समय तक सफलता से वंचित रखा. आखिरकार कुसल मेंडिस (110) को आउट करके हार्दिक पंड्या ने इस साझेदारी को तोड़ा. तीसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय श्रीलंका का स्‍कोर दो विकेट खोकर 209 रन था. दिमुथ करुणारत्‍ने 92 और पुष्‍पकुमार 2 रन बनाकर नाबाद हैं. भारत के लिए ऑफ स्पिनर आर. अश्विन ने सबसे अधिक पांच विकेट लिए. पहली पारी के आधार पर भारतीय टीम को 439 रन की विशाल बढ़त हासिल हुई. श्रीलंका की दूसरी पारी के विकेटों का पतन : 7-1 (थरंगा, 2.6), 198-2 (मेंडिस, 54.5) दूसरी पारी में श्रीलंका को जल्‍दी ही उपुल थरंगा (2)का विकेट गंवाना पड़ा. उन्‍हें तेज गेंदबाज उमेश यादव ने बोल्‍ड किया. आठवें ओवर में श्रीलंका का कुसल मेंडिस के रूप में दूसरा विकेट भी गिर सकता था, लेकिन अश्विन की गेंद पर धवन मिडऑन पर कैच नहीं पकड़ पाए. पारी के 18वें ओवर में जडेजा की गेंदबाजी पर कुसल मेंडिस को अम्‍पायर ने विकेट के पीछे कैच आउट दे दिया था लेकिन श्रीलंकाई बल्‍लेबाज की ओर से लिए गए रिव्‍यू के बाद उन्‍हे फैसला बदलना पड़ा. करुणारत्‍ने और मेंडिस ने जल्‍द ही अच्‍छी साझेदारी करते हुए टीम को 100 रन के पार पहुंचा दिया. इस दौरान दोनों बल्‍लेबाजों ने अर्धशतक भी पूरे किए. मैच के तीसरे दिन भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत लेग स्पिनर रवींद्र जडेजा ने की. इस ओवर में सात रन बने. इसके बाद उमेश यादव को गेंदबाजी पर लाया गया. यह ओवर मेडन रहा. जडेजा का अगला ओवर भी मेडन रहा. पारी के 25वें ओवर में जडेजा टीम के लिए दिन की पहली कामयाबी लेकर आए जब उन्‍होंने कप्‍तान दिनेश चंदीमल (10 रन, 34 गेंद, एक छक्‍का) को हार्दिक पंड्या के हाथ कैच करा दिया. तीसरा विकेट 60 के स्‍कोर पर गिरा. इसी ओवर में पूर्व कप्‍तान एंजेलो मैथ्‍यूज भी आउट हो सकते थे लेकिन विराट कोहली ने कैच गिरा दिया. श्रीलंका अभी इस शुरुआती झटके से उबर भी नहीं पाया था कि अगले ओवर में कुसल मेंडिस (24 रन, 64 गेंद, चार चौके) भी विदा हो गए. उन्‍हें तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कप्‍तान कोहली से कैच कराया. श्रीलंका का चौथा विकेट 64 के स्‍कोर पर गिरा. मैथ्‍यूज और डिकवेला ने इसके बाद आक्रामक स्‍ट्रोक्‍स लगाकर भारत के गेंदबाजों को दबाव में लाने की कोशिश की. डिकवेला ने जहां अश्विन की गेंद पर छक्‍का जमाया, वहीं मैथ्‍यूज ने जडेजा के ओवर में दो छक्‍के जड़े. हालांकि इस रणनीति ने भी काम नहीं किया और टीम को जल्‍द ही मैथ्‍यूज (26 रन, 33 गेंद, दो चौके, दो छक्‍के) को विकेट गंवाना पड़ा. मैथ्‍यूज को लेग स्लिप पर पुजारा ने खूबसूरती से कैच किया. पांचवां विकेट 117 के स्‍कोर पर गिरा. श्रीलंका का छठवां विकेट धनंजय डिसिल्‍वा के रूप में जल्‍द ही गिर गया. धनंजय सिर्फ एक गेंद खेल पाए. उन्‍हें रवींद्र जडेजा ने बेहतरीन गेंद पर बोल्‍ड किया. जडेजा ने इसके साथ ही टेस्‍ट क्रिकेट में अपने 150 विकेट पूरे किए. छठा विकेट 122 रन के स्‍कोर पर गिरा. श्रीलंका का छठवां विकेट धनंजय डिसिल्‍वा के रूप में जल्‍द ही गिर गया. धनंजय सिर्फ एक गेंद खेल पाए. उन्‍हें रवींद्र जडेजा ने बेहतरीन गेंद पर बोल्‍ड किया. जडेजा ने इसके साथ ही टेस्‍ट क्रिकेट में अपने 150 विकेट पूरे किए. छठा विकेट 122 रन के स्‍कोर पर गिरा. विकेट की इस पतझड़ के बीच निरोशन डिकेवला ने अपना अर्धशतक 44 गेंदों पर सात चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरा किया. श्रीलंका के 150 रन 40.3 ओवर में पूरे हुए. 42 वें ओवर में मोहम्‍मद शमी टीम के लिए दो सफलताएं लेकर आए. श्रीलंका टीम का सातवां विकेट डिकवेला (51) के रूप में ही गिरा. उन्‍हें शमी ने बोल्‍ड किया. इसी ओवर की आखिरी गेंद पर शमी ने रंगना हेराथ (2 रन, पांच गेंद) को भी चलता कर दिया. श्रीलंका टीम का नौवां विकेट दिलरुवान परेरा (25 रन, 34 गेंद, तीन चौके, एक छक्‍का) के रूप में गिरा जिन्‍हें अश्विन ने बोल्‍ड किया.इसके बाद अश्विन ने नुवान प्रदीप (0) को भी आउट करते हुए श्रीलंकाई पारी का 183 रन पर अंत कर दिया. अश्विन ने मैच में पांच विकेट लिए. श्रीलंका के विकेटों का पतन : 0-1 ( थरंगा, 1.6), 33-2 ( करुणारत्‍ने, 13.4), 60-3 (चंदीमल, 24.1), 64-4 ( मेंडिस, 25.4), 117-5 ( मैथ्‍यूज , 33.6), 122-6 (धनंजय, 34.5), 150-7 ( डिकेवला, 41.1), 152-8 (हेराथ, 41.6), 171-9 (परेरा, 47.2), 183-10 (प्रदीप, 49.4) मैच में भारतीय टीम का पूरा वर्चस्‍व दिखाई दिया है. गौरतलब है कि रैंकिंग के लिहाज से भी दोनों टीमों के बीच काफी फर्क है. जहां भारतीय टीम टेस्‍ट रैंकिंग में शीर्ष पर है वहीं श्रीलंका टीम शीर्ष पांच टीमों में भी शामिल नहीं है. संगकारा और जयवर्धने जैसे धाकड़ बल्‍लेबाजों के संन्‍यास लेने के बाद यह टीम फिलहाल पुनर्निर्माण के दौर से गुजर रही है. दूसरा टेस्‍ट जीतते ही भारतीय टीम सीरीज अपने नाम पर कर लेगी क्‍योंकि यह टेस्‍ट जीतते ही उसे 2-0 की अजेय बढ़त हासिल हो जाएगी. मेजबान श्रीलंका टीम के लिये भारत की चुनौती काफी कठिन है. भारत टेस्ट रैंकिंग में पहले और श्रीलंका सातवें स्थान पर है जिससे फासले का पता चलता है. गॉल टेस्ट के बाद यह फासला और बढ़ गया है. इस टेस्‍ट में टीम इंडिया ने 304 रनों के विशाल अंतर से जीत दर्ज की थी. भारतीय टीम की अब तक की रनों के लिहाज से यह सबसे बड़ी जीत है. दोनों टीमें इस प्रकार हैं.. भारत : शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्‍वर पुजारा, विराट कोहली (कप्‍तान), अजिंक्‍य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन, ऋद्धिमान साहा, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, मोहम्‍मद शमी और उमेश यादव. श्रीलंका : दिमुथ करुणारत्‍ने, उपुल थरंगा, कुसल मेंडिस, दिनेश चंदीमल (कप्‍तान), एंजेलो मैथ्‍यूज, धनजंय डिसिल्‍वा, निरोशन डिकवेला, रंगना हेराथ, दिलरुवान परेरा, मेलिंडा पुष्‍पकुमार, नुवान प्रदीप.