रक्षाबंधन के दिन दोपहर में बंद हो जाएंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, फिर इस दिन खुलेंगे…

सोमवार सात अगस्त यानी रक्षा बंधन के दिन चंद्र ग्रहण के कारण बद्रीनाथ धाम के कपाट दोपहर बाद बंद कर दिए जाएंगे. इसके बाद तीर्थयात्री भगवान बद्री व‌िशाल के दर्शन नहीं कर पाएंगे.

इसके बाद आठ अगस्त को सुबह चार बजे से ही बद्रीनाथ की नित्य पूजाएं शुरू होंगी और तीर्थयात्री भगवान बद्रीनाथ के दर्शन कर सकेंगे. बद्रीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने बताया कि सात अगस्त को रात 10 बजकर 52 मिनट से 12 बजकर 48 मिनट तक चंद्र ग्रहण है.

ग्रहण से नौ घंटे पहले सूतक काल माना जाता है. इस दौरान मंदिरों में पूजाएं नहीं होती हैं और न ही कोई शुभ कार्य होते हैं. ऐसे में सात अगस्त को चंद्र ग्रहण के कारण दोपहर डेढ़ बजे बद्रीनाथ के कपाट बंद कर दिए जाएंगे.

रात आठ बजे होने वाली बद्रीनाथ की शयन आरती भी दोपहर में डेढ़ बजे से पहले ही संपन्न कर दी जाएगी. आठ अगस्त को तड़के भगवान बद्रीनाथ की अभिषेक पूजाएं शुरू हो जाएंगी.

धर्माधिकारी उनियाल ने बताया कि मौसम खराब होने के बावजूद बद्रीनाथ में तीर्थयात्रियों के पहुंचने का सिलसिला जारी है. बद्रीनाथ की अभिषेक पूजाओं की भी ऑनलाइन बुकिंग आ रही हैं. इधर, बीकेटीसी के धर्माधिकारी बीडी सिंह का कहना है कि मौसम को देखते हुए बद्रीनाथ धाम में तीर्थयात्रियों को किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होने दी जा रही है.