SBI ने बदले ऑनलाइन ट्रांजेक्शन से जुड़े नियम, लिमिट भी बढ़ी

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों के लिए नई सुविधा शुरू की है. SBI ने नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के लिए सर्विस लिमिट में 2.5 गुना की बढ़ोतरी की है. SBI के अनुसार, अब क्विक ट्रांसफर सर्विस से बेनेफिशरी को एड किए बिना भी एक दिन में 25,000 रुपए तक ट्रांसफर किए जा सकते है. इससे पहले यह लिमिट 10,000 रुपए प्रति दिन थी. गौरतलब है कि नेट बैंकिंग के जरिए आम तौर पर NEFT, RTGS, IMPS, जैसे विकल्पों के जरिए पैसा भेजा जाता है, लेकिन इन सभी विकल्पों के लिए पहले बेनेफिशरी एड करना पड़ता है जिसमें 2-3 घंटे से लेकर एक दिन तक का समय लग जाता था.

SBI ने अब क्विक ट्रांसफर सर्विस के तहत प्रति ट्रांजेक्शन लिमिट को भी दोगुना कर 10,000 रुपए कर दिया है, इससे पहले यह लिमिट 5,000 रुपए थी. यानी अब क्विक ट्रांसफर सर्विस के जरिए आप अपने एकाउंट के साथ बिना कोई बेनेफिशरी एड किए किसी भी दूसरे खाते में पैसा भेज सकते हैं. इसके लिए आपको जिस खाते में रुपए भेजने हैं उसका खाता नंबर और उसका IFSC कोड लिखना होगा, अन्य किसी भी जानकारी की जरूरत नहीं पड़ेगी.

इस सेवा के तहत स्टेट बैंक का ग्राहक किसी दूसरे स्टेट बैंक के ही खाते में पैसे भेजता है तो किसी तरह का चार्ज नहीं है, लेकिन खाता अगर किसी दूसरे बैंक का है तो उसपर 2 रुपये प्रति ट्रांजेक्शन चार्ज लगता है.