युवा पीढ़ी स्वरोजगार की ओर तेजी से हो रही अग्रसरः सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत

देहरादून, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरुवार को न्यू कैंट रोड स्थित जनता दर्शन हॉल में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत राज्य स्तरीय कार्यशाला का शुभारम्भ किया.मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि आज युवा पीढ़ी स्वरोजगार की ओर तेजी से अग्रसर हो रही है. युवा पीढ़ी समझ चुकी है कि रोजगार का सबसे अच्छा साधन स्वरोजगार है. उन्होंने कहा कि विभिन्न लघु, मध्यम एवं सूक्ष्म उद्यमों के विकास से जहां अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा साथ ही इससे स्थानीय उत्पादों को भी बढ़ावा मिलेगा.मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि आधुनिक तकनीकि युग में मशीनीकरण तेजी से हो रहा है, इसके साथ ही घरेलू उत्पादों की ओर लोगों को रूझान भी बढ़ा है. उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में घरेलू उत्पादों के विकास हेतु अपार सम्भावनाए हैं. राज्य में घरेलू उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए उत्पादों की गुणवत्ता, पैकेजिंग एवं मार्केटिंग के लिए स्किल डेवलपमेंट की जरूरत है. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने युवाओं को विभिन्न उद्यमों के माध्यम से स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया, जिससे अन्य लोग भी इन उद्यमों में कार्य कर सके और उन्हें भी रोजगार के अवसर प्रदान हो सके. किसी भी उद्यम, राज्य या देश के विकास के लिए सभी का समन्वय एवं सहयोग जरूरी है. इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने उद्यमियों द्वारा लगाये गये विभिन्न स्टालों का भी अवलोकन किया. पी.एम.ई.जी.पी कार्यक्रम के तहत सराहनीय कार्य करने पर उद्योग विभाग एवं बैकों के अधिकारियों को पुरस्कृत भी किया.

पी.एम.ई.जी.पी कार्यक्रम के तहत सराहनीय कार्य करने पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने जिन लोगों को पुरस्कृत किया उनमें विशिष्ट पुरस्कार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के महाप्रबंधक सुब्रता दास, भारतीय स्टेट बैंक के उप महाप्रबंधक सुबीर कुमार मुकर्जी, पंजाब नेशनल बैंक के उप महाप्रबंधक अनिल कुमार खोसला, उत्तराखंड ग्रामीण बैंक के चेयरमैन संजय अग्रवाल, बैंक ऑफ बड़ौदा के सहायक महाप्रबंधक दिनेश पंत, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के उप महाप्रबंधक बी आर मौर्य को दिया गया. उल्लेखनीय पुरुस्कार नैनीताल बैक के एवीपी जीसी पंत, बैंक ऑफ इंडिया के सहायक महाप्रबंधक विश्वजीत सिंह, इलाहाबाद बैंक के सहायक महाप्रबंधक अशोक पटनायक, इण्डियन ओवरसीज बैंक के वरिष्ठ क्षेत्रीय प्रबन्धक जेसी काण्डपाल, यूनियन बैंक आफ इण्डिया के सहायक महाप्रबन्धक अनुराग चतुर्वेदी, यूनियन बैंक आफ इण्डिया के प्रबन्धक मीनाक्षी सिंह को दिया गया. एसएलबीसी में विशिष्ट पुरस्कार सहायक महाप्रबंधक रमेश पंत को दिया गया. जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक में उल्लेखनीय पुरस्कार जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक, पंजाब नेशनल बैंक हरिद्वार के के एस पाल, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक पंजाब नेशनल बैंक देहरादून गोपाल सिंह राणा, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक बैंक ऑफ बडौदा, नैनीताल के डीके जैसवाल, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक अल्मोड़ा के मदन गोपाल वर्मा, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक पौड़ी के नंदकिशोर को दिया गया. विशिष्ट पुरस्कार उद्योग निदेशालय के संयुक्त निदेशक श्रीमती कौशल्या बंधु एवं खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के सहायक निदेशक गगन तिवारी को दिया गया. उल्लेखनीय पुरस्कार जिला उद्योग केंद्र रुड़की के सहायक प्रबंधक एसएस रावत, जिला उद्योग केंद्र अल्मोड़ा के महाप्रबंधक श्रीमती कविता भगत, जिला उद्योग केंद्र कोटद्वार पौड़ी गढ़वाल के महाप्रबंधक विपिन कुमार, जिला उद्योग केंद्र हल्द्वानी के महाप्रबंधक डॉक्टर दीपक मुरारी को दिया गया.

प्रमुख सचिव श्रीमती मनीषा पंवार ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत राज्य में 9487 इकाईयां स्थापित की गई है तथा 138.41 करोड़ रूपये की मार्जिन मनी वितरित की गई तथा 63,791 लोगों को रोजगार मिला है. सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा योजना के क्रियान्वयन में पारदर्शिता लाने के लिए 1 जुलाई 2016 से ऑनलाइन डीबीटी सिस्टम को अनिवार्य रुप से लागू किया गया, जिसके अंतर्गत जो भी आवेदन पीएमईजीपी योजना के अंतर्गत प्राप्त होंगे, उनका निस्तारण मार्जिन मनी समायोजन तक ऑनलाइन किया जाएगा. उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत पिछले वर्ष उत्तराखण्ड को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ.