देहरादून : छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों के प्रति किया जागरूक

देहरादून, यातायात पुलिस देहरादून द्वारा स्कूल/कॉलेज के छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के अपने अभियान के अन्तर्गत यातायात पुलिस द्वारा ग्राफिक ईरा यूनिवर्सिटी क्लेमेण्टाउन के लगभग 500 छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों की विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी. प्रारम्भ में देहरादून में यातायात की चुनौतियों के बारे में सभी को अवगत कराते हुए छात्र-छात्राओं से यातायात के नियमों पर चर्चा कर सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित प्रश्न पूछे गये व सही जवाब देने वालों को धीरेन्द्र गुंज्याल, पुलिस अधीक्षक यातायात द्वारा पुरस्कार प्रदान किये गये.इसके उपरान्त पुलिस अधीक्षक यातायात द्वारा छात्र-छात्राओं को सड़क पर सुरक्षित रहकर सभी को सुरक्षित रखने की अपील की गयी तथा बताया गया कि पूरे विश्व में भारत की सड़कों पर सबसे ज्यादा दबाव रहता है, जिसका मुख्य कारण हम लोग में रोड यूजर बिहेवियर के बारे में जानकारी नही होना/उदासीनता/लापरवाही जिसका परिणाम सड़क पर दुर्घटनाए होती है.

इस सम्बन्ध में छात्र-छात्राओं को स्वयं के साथ ही अपने अभिभावकों को भी हैलमेट का प्रयोग करने, गुणवत्ता, व रिफ्लेक्टेर युक्त जैकेट, हैलमेट, बैग का प्रयोग करने हेतु बताया गया. सड़क पर विजीबिलिटी से कुछ हद तक दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सकता है. सड़क पर सुरक्षा हेतु 18 वर्ष से कम उम्र में वाहन न चलाने, वाहन चलाते समय मोबाईल का प्रयोग न करने, सीट बेल्ट का प्रयोग, नशे में वाहन न चलाने, रात्रि के समय चमकीले वस्त्रों का प्रयोग करने तथा दुपहिया पर पीछे बैठे व्यक्ति को भी हैलमेट का प्रयोग करने की बात कही गयी.इसके उपरान्त मैक्स अस्पताल के आर्थोपैडिक सर्जन डॉ हिमांशु कोचर तथा सिनर्जी अस्पताल के आर्थोपैडिक सर्जन डॉ0 प्रवीण मित्तल, द्वारा सड़क दुर्घटनाओं के दौरान दी जाने वाली फर्स्ट एड, गोल्डन ऑवर के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी तथा दुर्घटना के दौरान की जाने वाली कार्यवाही को विस्तार से बताया गया. इस अवसर पर कॉलेज के डायरेक्टर, एवं अध्यापकगण भी मौजूद रहे .

इस अवसर पर कपिल द्वारा यातायात पुलिस के लिये बनाये गये यातायात नियमों की जानकारी सम्बन्धी जिगंल गीत गाया गया. अन्त में संयुक्त राष्ट्र के सेफ किड्स अभियान के अन्तर्गत हस्ताक्षर कार्ड पर हस्ताक्षर किये गये तथा यातायात नियमों के पालन की शपथ ली गयी.

यह अभियान भविष्य में भी जारी रहेगा जिसमें 3 अगस्त को केन्द्रीय विद्यालय सालावाला, 4 अगस्त को डीआईटी विश्वविद्यालय मसूरी रोड, 5 अगस्त को लॉ कॉलेज प्रेमनगर, में जाकर छात्र-छात्राओं को जागरूक किया जायेगा तथा 6 अगस्त रविवार को सुबह 8:00 बजे एक जागरूकता रैली/रोड वॉक आयोजित किये जाने का कार्यक्रम प्रस्तावित है .