नशा एक सामाजिक बुराई : सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

देहरादून, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि यदि किसी भी व्यक्ति को कहीं पर नशे से संबंधित कोई सूचना मिलती है तो तुरंत इसकी शिकायत पुलिस को करें तथा नशे से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत सीधे मुख्यमंत्री से भी की जा सकती है.रविवार को विंटर लाइन प्रोडक्शन निर्मित उत्तराखंड पुलिस की युवाओं में नशे की समस्या पर आधारित डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘‘डेथ विश‘‘ में युवाओं के नाम अपने संदेश में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि नशा एक सामाजिक बुराई है.

नशे के कारण समाज में अन्य प्रकार की बुराइयां उत्पन्न होती है. आजकल युवाओं में ड्राई नशा अत्यंत चिंता का विषय है. माता पिता व शिक्षकों को मिलकर प्रयास करने होंगे ताकि युवाओं में नशे की तकलीफ को दूर किया जा सके. अभिभावकों को अच्छी शिक्षा व संस्कारों द्वारा बच्चों को स्वस्थ आदतों हेतु प्रेरित करना होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस प्रशासन द्वारा नशे के खिलाफ अभियान हेतु बहुत अच्छा काम किया जा रहा है. पुलिस विभाग द्वारा नशे के व्यापारियों के विरुद्ध सख्ती से निपटा जा रहा है. नशे के खिलाफ जन जागरूकता अभियान में सरकार के प्रयासों के साथ सक्रिय जन सहभागिता भी आवश्यक है.

गौरतलब है कि विंटर लाइन प्रोडक्शन द्वारा निर्मित उत्तराखंड पुलिस की इस डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘‘डेथ विश‘‘ का निर्माण-निर्देशन देवेंद्र रावत ने किया है. 12 मिनट की इस डॉक्यूमेंट्री फिल्म में मात्र एक गीत के माध्यम से युवाओं पर नशे के दुष्प्रभाव तथा इसके सामाजिक दुष्परिणाम को दर्शाया गया है. एसएसपी उधमसिंहनगर डॉ सदानंद दाते तथा एसपी चमोली तृप्ति भट्ट ने फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. उत्तराखंड पुलिस के अन्य अधिकारियों ने भी फिल्म में अभिनय किया है