गूगल ने एंड्रायड ‘लिपिज्जन’ स्पाइवेयर को किया ब्लॉक

सैन फ्रांसिस्को|…. ‘लिपिज्जन’ नामक एक नया स्पाइवेयर आया है, जो यूजर्स के टेक्स्ट मैसेजेज, वॉयस कॉल्स, लोकेशन डेटा और फोटो को जब्त कर लेता है। गूगल ने इस स्पाइवेयर को ब्लॉक कर दिया है. कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि उसे एंड्रायड स्पाइवेयर ‘चरसोर’ की खोजबीन के दौरान ‘लिपिज्जन’ का पता चला, जो एक नया स्पाइवेयर है.

‘लिपिज्जन’ के कोड में साइबर हथियार कंपनी एक्यूस टेक्नॉलॉजीज का संदर्भ मिला है. यह एक मल्टीस्टेज स्पाइवेयर हैं, जो यूजर्स के ईमेल, एसएमएस मैसेज, लोकेशन, वॉयस कॉल्स और मीडिया की निगरानी और जासूसी करने में समक्ष है. पोस्ट में कहा गया है, “हमने 20 ‘लिपिज्जन’ एप को वितरित होते ढूंढ़ा है, जो 100 से कम डिवाइसों को प्रभावित कर पाया था. इसे एंड्रायड पारिस्थितिकी तंत्र में ब्लॉक कर दिया गया है. गूगल प्ले प्रोटेक्ट ने सभी प्रभावित डिवाइसों को सूचित किया है कि वे ‘लिपिज्जन’ एप हटा लें.”

‘लिपिज्जन’ स्पाइवेयर कई कार्य करने में समक्ष है, जिसमें स्क्रीनशॉट लेना, डिवाइस के कैमरे से तस्वीरें लेना, डिवाइस के माइक्रोफोन से रिकार्डिग करना, कॉल रिकार्डिग और लोकेशन मॉनिटरिंग शामिल है.