प्रवर्तन निदेशालय रिंगिंग बेल कंपनी पर कस सकता है शिकंजा

गाजियाबद, 251 रुपये में लोगों तक मोबाइल पहुंचाने का दावा करने वाली कंपनी रिंगिंग बेल पर शिकंजा कसता जा रहा है. रिंगिंग बेल कंपनी के खिलाफ बहुत जल्द ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) जांच शुरू कर सकता है. इसी संबंध में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी शुक्रवार को सिगानी गेट थाने पहुंचे और कंपनी के अधिकारियों पर धोखाधड़ी के मुकदमें से जुड़ी जानकारी हासिल की. इस दौरान अधिकारी अपने साथ कुछ जरूरी कागजात भी अपने साथ ले गए.

गौरतलब है कि कंपनी के एमडी मोहित गोयल सहित पांच लोगों के खिलाफ सिगानी गेट थाना इलाके में 16 लाख धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है. इस मामले में मोहित गोयल को एक बार गिरफ्तार किया जा चुका है जो इस समय जमानत पर रिहा हो चुका है. गाजियाबाद के एक व्यापारी अक्षय नाम के रिंगिंग बेल कंपनी के एमडी मोहित गोयल के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है.

व्यापारी ने आरोप लगाया है कि रिंगिंग बेल कंपनी ने उसे मोबाइल देने का ऑर्डर लिया लेकिन जब माल भेजा गया तो वह पूरी तरह से खराब था. जिसके बाद व्यापारी ने पूरा माल वापस भेज दिया था बाद में न तो कंपनी की ओर से माल भेजा गया और न रुपए लौटाए गए. गौरतलब है कि रिंगिंग बेल ने यह ऐलान करके सबको चौंका दिया था कि वह बाजार में मात्र 251 रुपए की कीमत वाला मोबाइल लॉन्च करने वाली है.