बिहार विधानसभा में नीतीश ने विश्वास मत जीता

पटना, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को विधानसभा में विश्वास मत हासिल कर लिया. विश्वास मत के प्रस्ताव के पक्ष में 131 जबकि विरोध में 108 वोट पड़े. बिहार में नवगठित सरकार के बिहार विधानसभा के एकदिवसीय विशेष सत्र आहूत किया था. विधानसभा की कारवाई प्रारंभ होने के पूर्व ही राजद और कांग्रेस के विधयकों ने जमकर हंगामा किया. इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंत्रिपरिषद के पक्ष में विधानसभा में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया. इसके बाद विश्वास मत के पक्ष और विपक्ष में चर्चा के बाद मतदान शुरू हुआ.

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने शुरू में ध्वनिमत से मतदान कराने की कोशिश की लेकिन दोनों ओर से तेज आवाज के कारण निर्णय नहीं हो सका. इसके बाद लॉबी डिविजन से मतदान कराया गया, जिसमें विश्वास मत के प्रस्ताव के पक्ष में 131 मत जबकि विरोध में 108 मत पड़े. विधानसभा से बाहर निकलने के बाद भाजपा के नेता प्रेम कुमार ने कहा कि यह पहले से ही तय था कि बिहार की जनता राजग के साथ है. उन्होंने कहा कि आज पूरा परिवार खुश है. उन्होंने विश्वास मत प्राप्त करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई दी.

ज्ञात हो कि राजद ने गुप्त मतदान का आग्रह किया था. विधानसभा के विशेष सत्र को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे. विधानसभा की कार्यवाही का सीधा प्रसारण भी रोका गया. उल्लेखनीय है कि महागठबंधन से अलग होने के बाद नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद नीतीश कुमार ने भाजपा नीत राजग के अन्य दलों के सहयोग से सरकार बनाई और गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी.