सड़क पर आयी बिहार की राजनीति, नीतीश के खिलाफ फूटा आरजेडी का गुस्सा; सड़कें जाम

बुधवार की शाम से शुरू हुई बिहार की सियासी हलचल रातभर भी सुलगती रही और गुरुवार सुबह से ही नीतीश कुमार पर गठबंधन को तोड़ने का आरोप लगाकर राजद के नेता और कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं. जगह-जगह सड़क जाम कर जेडीयू और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ नारेबाजी की जा रही है. खासकर वैशाली जिले में आरजेडी समर्थकों और कार्यकर्ताओं का आक्रोश काफी ज्यादा देखा जा रहा है.

गुरुवार सुबह से ही आरजेडी समर्थकों ने गांधी सेतु को जाम कर दिया है और लगातार नारेबाजी प्रदर्शन करने लगे. यातायात पूरी तरह अवरूद्ध कर दिया गया, जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई. लोग लालू और तेजस्वी के समर्थन में नारेबाजी करते रहे, वहीं जेडीयू और नीतीश कुमार के खिलाफ आरजेडी का गुस्सा फूट पड़ा है.

वहीं गुरुवार सुबह दस बजे नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे और एनडीए के साथ मिलकर बिहार में नई सरकार बनाएंगे. लेकिन इससे पहले आरजीडी नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री ने नीतीश कुमार और जेडीयू पर जुबानी हमला किया है. उन्होंने नीतीश पर आरोप लगाया है कि उन्होंने साजिश की और मुझे मोहरा बनाकर बीजेपी के साथ हाथ मिला लिया.

वहीं जेडीयू नेता अली अनवर ने अपनी ही पार्टी और पार्टी के नेता नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. अली अनवर ने कहा है कि नीतीश का ये कदम बिल्कुल सही नहीं है. उन्होंने कहा कि नीतीश ने अंतरात्मा की बात सुनकर इस्तीफा दिया और बीजेपी के साथ गठबंधन किया. लेकिन मेरी अंतरात्मा नीतीश के फेसले से खुश नहीं है. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि पार्टी को इस बारे में सोचना चाहिए, मैं ऐसी राजनीति के पक्ष में नहीं हूं.

वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि बिहार में राजनीति का गंदा चेहरा सामने आया है, यहां सत्ता में बने रहने के लिए कुछ भी कर सकते हैं लोग.