वेज बिरयानी में मिली मरी हुई छिपकली, रेलवे ने कैटरर का ठेका रद्द किया

हावड़ा से दिल्ली आ रही पूर्वा एक्सप्रेस में परोसी गयी ‘वेज बिरयानी’ में छिपकली मिलने के बाद रेल मंत्रालय ने बुधवार को कैटरर का ठेका रद्द कर दिया. मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी.

इसी बीच प्रभावित यात्री ने कहा कि बिरयानी खाने के कारण उसके मुंह में छाले पड़ गए और दिन में पेशाब करने में दिक्कत हुई. मेघना सिन्हा नामक यात्री ने मंगलवार को सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि उसके सहयात्री ने बिरयानी ऑर्डर की और छिपकली पर गौर किए बिना खा लिया. इसके बाद वह यात्री बीमार हो गया.

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता एके सक्सेना ने बताया, ‘भोजन की खराब गुणवत्ता और अधिक रुपये लिए जाने को कतई बर्दास्त नहीं करने की रेलवे की नीति के अनुरूप रेल प्रशासन ने हावड़ा-नई दिल्ली ‘पूर्वा एक्सप्रेस’ के कैटरिंग ठेकेदार आर के एसोसिएट्स का ठेका रद्द कर दिया.’

सिन्हा ने बिरयानी के पैकेट की तस्वीर भी ली थी और भारतीय रेलवे को टैग करते हुए ट्विटर पर पोस्ट कर दिया था. इसके बाद एक अन्य ट्वीट में यात्री रेल मंत्री सुरेश प्रभु को टैग किया था.

मंत्रालय ने बुधवार को ट्वीट किया कि आर के एसोसिएट्स को 15 मई, 2014 को पांच साल के लिए पूर्वा एक्सप्रेस का ठेका दिया गया था. रेल मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि पिछले साल कैटरर पर ₹ 10 लाख और ₹7.5 लाख का जुर्माना लगाया गया था.

दूसरी ओर यात्री ने कहा कि उस बिरयानी को खाने के एक दिन बाद उसके मुंह में छाले पड़ गए और पेशाब करने में दिक्कत हुई. इलाहाबाद हाईकोर्ट में वकील संतोष कुमार सिंह ने बताया कि उन्होंने तीन या चार चम्मच बिरयानी खाई थी, तभी उनकी नजर मृत छिपकली पर पड़ी.

सिंह ने बताया, ‘मुझे बेचैनी महसूस हुई. मेरे सहयात्री ने तत्काल तस्वीर ली और ट्विटर पर पोस्ट कर दिया.’