रामनाथ कोविंद ने ली देश के 14वें राष्ट्रपति पद की शपथ

नई दिल्ली, मंगलवार को रामनाथ कोविंद ने देश के 14वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ग्रहण किया. चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने कोविंद को शपथ दिलाई. शपथ के बाद प्रणव और कोविंद ने कुर्सियां बदल ली. इसके बाद, 21 तोपों की सलामी दी गई. शपथ ग्रहण में पीएम नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कई बड़ी राजनीतिक हस्तियां मौजूद थी.

शपथ ग्रहण के बाद सेंट्रल हॉल में नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भाषण हुआ. कोविंद ने अपनी स्पीच हिंदी में दी. कोविंद ने राष्ट्रपति पद का दायित्व सौंपे जाने के लिए सभी को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि सेंट्रल हॉल में आने के बाद उनकी सभी यादें ताजा हो गईं. कोविंद ने अपनी शुरुआती जिंदगी के जिक्र और चुनौतियों का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि वह मिट्टी के घरों में पले हैं. उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण में आम लोगों के सहयोग की भी जरूरत है. कोविंद ने कहा कि खेतों में काम करने वाली महिलाएं, किसान, वैज्ञानिक, स्टार्टअप कारोबारी से लेकर सुरक्षाबलों तक राष्ट्र निर्माता हैं.

बता दें कि प्रणव मुखर्जी कोविंद को काली लिमो कार में लेकर संसद भवन पहुंचे थे. कोविंद को सेंट्रल हॉल की ओर जाते हुए चीफ जस्टिस खेहर, स्पीकर सुमित्रा महाजन और उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी भी साथ थे. इसके साथ ही मुखर्जी रामनाथ कोविंद को कार्यभार सौंपने के बाद 340 कमरों वाले राष्ट्रपति भवन से हटकर 10 राजाजी मार्ग स्थित एक बंगले में रहने के लिए चले गए.