9 अगस्त से ममता छेड़ेंगी ‘बीजेपी भारत छोड़ो’ अभियान

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि आज देश में आपातकाल से ज्यादा बुरे हालात है. आज देश में अर्मत्य सेन जैसे बुद्धिजीवी लोग भी सुरक्षित नहीं है. ममता ने कहा कि देश भर में फैले डर के माहौल को खत्म करने के लिए ‘बीजेपी, भारत छोड़ो आंदोलन’ का आगाज 9 अगस्त से किया जाएगा. 1942 के ‘अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन’ की तर्ज पर यह आंदोलन चलाया जाएगा. 9 से 30 अगस्त तक चलाए जाने वाले आंदोलन के तहत कार्यकर्ता रैलियां निकालेंगे और सार्वजनिक सभाओं में बीजेपी के अत्याचारों की पोल खोलेंगे.

ममता ने लोकसभा चुनाव में बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए विपक्ष के राष्ट्रीय गठबंधन का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि हम बीजेपी के विरोध में खड़े किसी भी दल का समर्थन करेंगे. यही नहीं, उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं यह भी सुन रही हूं कि अगले साल ही लोकसभा चुनाव होंगे.’

ममता ने शहीदी दिवस पर कोलकाता में एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार राज्य सरकारों को काम नहीं करने दे रही है. उन्होंने कहा कि असली हिंदू भी नकली हिंदुओं के कारण परेशानी झेल रहे हैं. गोरक्षा के नाम पर लोग गो राक्षस तैयार किए जा रहे है. बीजेपी सबसे भ्रष्ट पार्टी है. ईडी और सीबीआई का उपयोग यूपी या गुजरात सरकार के खिलाफ नहीं किया जाता है. ममता ने कहा कि हमें किसी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है कि हम अच्छे है या बुरे. उन्होंने भीड़ के हाथों हत्या का जिक्र करते हुए कहा, ‘वह नहीं जानतीं कि क्या देश भर में फैले अराजकता के मौजूदा माहौल में दलित और मुस्लिम सम्मान से रह सकते है?’

ममता ने पीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को गुंडा तक कह डाला. उन्होंने कहा, ‘कुछ गुंडे मिल कर देश चला रहे हैं. हम उनके नौकर नहीं हैं. कौन क्या खाएगा और क्या पहनेगा, यही लोग तय कर रहे हैं, जबकि बीजेपी के नेता हजारों हजार भ्रष्टाचार कर रहे हैं. उनके खिलाफ सीबीआई और ईडी कोई कार्रवाई नहीं करती. जो यह सोच रहे हैं कि 2019 का लोकसभा चुनाव उनकी जेब में है, वह गलत हैं. उनकी जेब में बहुत बड़ा छेद हो चुका है. बीजेपी को अगले चुनाव में सिर्फ 30 फीसदी वोट मिलेंगे. बीजेपी को सत्ता से हटाने की चुनौती हमें स्वीकार है.’