वरिष्ठ नागरिकों को मोदी सरकार का तोहफा | 8% ब्याज के साथ नई पेंशन योजना

केंद्र सरकार 60 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों यानी सीनियर सिटीजन के लिए ‘प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना’ नाम से एक पेंशन प्लान लेकर आई है. वित्त मंत्री अरुण जेटली शुक्रवार को यह स्कीम लॉन्च करेंगे. LIC से यह पेंशन प्लान ऑफलाइन और ऑनलाइन, दोनों तरीकों से खरीदा जा सकता है. इस नई पेंशन योजना में 10 सालों तक सालाना 8% की ब्याज दर के साथ हर महीने पेंशन की तय राशि दी जाएगी.

इस स्कीम के तहत अधिकतम 60,000 रुपये सालाना पेंशन मिलेगी यानी हर माह 5000 रुपये. 60 हजार रुपए पेंशन के लिए एकमुश्त 7,22,890 रुपये जमा कराने होंगे. इस स्कीम के तहत न्यूनतम पेंशन 12,000 रुपये सालाना यानी 1000 रुपये मासिक मिलेगी. इसके लिए एकमुश्त 1,44,578 रुपये जमा कराके पॉलिसी खरीदनी होगी. यह स्कीम 10 साल के लिए होगी. यानी एक बार पेंशन प्लान खरीद कर अगले 10 साल तक पेंशन ली जा सकती है. इसे 60 साल से ऊपर का कोई भी सीनियर सिटीजन ले सकता है.

अगर पेंशनर पॉलिसी टर्म यानी 10 साल पूरा होने पर जीवित रहता है तो उसे पेंशन प्राइस के साथ फाइनल पेंशन इंस्टॉलमेंट मिलेगी. पेंशनर की मौत पॉलिसी अवधि के बीच में हो जाती है तो इसके पेंशन प्राइस, लाभार्थी को मिल जाएगी. पेंशनर स्कीम के तहत मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना पेंशन ली जा सकती है.

अगर पेंशनर को खुद या उसकी पत्नी को गंभीर बीमारी हो जाती है तो वह इस स्कीम से समय से पहले निकल सकता है. ऐसी सूरत में उसे परचेज प्राइस का 98 फीसदी रिफंड मिल जाएगा. 60 साल से अधिक उम्र के नागरिक इस पेंशन प्लान को 3 मई 2018 तक खरीद सकते हैं. योजना को जीएसटी से छूट दी गई है. पेंशन लिए जाने के 3 साल बाद नकदी जरूरतों को पूरा करने के लिए खरीद मूल्य का 75 प्रतिशत तक कर्ज लेने की अनुमति होगी.