देहरादून : रिक्त पदों पर भर्ती को लेकर जनसंघर्ष मोर्चा ने किया तहसील का घेराव

देहरादून, तहसील विकासनगर में जनसंघर्ष मोर्चा कार्यकर्ताओं ने मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन ने पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी नेतृत्व में रिक्त पदों के सापेक्ष तत्काल भर्ती प्रक्रिया शुरू करवाये जाने को लेकर तहसील का घेराव कर महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन एसडीएम जितेन्द्र सिंह को सौंपा.जितेंद्र नेगी ने कहा कि प्रदेश में सरकारी व अर्द्धसरकारी संस्थानों में लगभग 50 हजार से अधिक पद (क, ख, ग, घ श्रेणी) रिक्त हैं, लेकिन सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है. तमाम सूत्रों से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर राजस्व विभाग में 3061, सिंचाई विभाग में 1534, खाद्य आपूर्ति में 384, शिक्षा में 14500, सचिवालय प्रशासन विभाग में 450, समाज कल्याण में 350, लोक निर्माण विभाग में 687, गृह (पुलिस) 1240, औद्योगिक विकास विभाग में 219, परिवहन 80, सहकारिता 250, पावर ट्रांसमिशन 647 व इसके साथ-साथ पशुपालन, कृषि, वित्त, विधानसभा, पर्यटन, वन, ऊर्जा, इत्यादि विभागों में हजारों पद रिक्त पड़े हैं.

अभी वर्तमान में सरकार द्वारा कुछ पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की बात कहीं गयी है, जो कि नाकाफी है.बड़े दुःख की बात है कि एक तरफ तो सरकार 100 दिन पूरे होने पर जश्न मना रही है, जबकि उपलब्धि के नाम पर शून्य है तथा वहीं दूसरी ओर बेरोजगार किसान परेशान है. प्रदेश में उच्च शिक्षित डिग्रीधारी बेरोजगार आज रोजगार की मांग को लेकर सड़कों पर ठोकरें खा रहे हैं, लेकिन सत्ता के नशे में चूर सरकार को इनकी पीड़ा से कोई वास्ता नहीं है.

सरकार को स्थायी पदों के सापेक्ष स्थायी नियुक्ति एवं अस्थायी पदों पर आउटसोर्स व अन्य प्रक्रिया के तहत युवाओं में रोजगार का रास्ता खोलना चाहिए. उत्तराखण्ड, देश का पहला राज्य बन गया है जहां पलायन रोकने को आयोग का गठन किया गया तथा भर्तियों के लिए कमेटी का गठन! इससे प्रदेश वासियों का सरकार से विश्वास समाप्त हो गया है.जनसघर्ष मोर्चा प्रदेश भर में 50 हजार से अधिक रिक्त पड़े पदों पर भर्ती प्रक्रिया त्वरित गति से शुरू कराये जाने को लेकर सड़कों पर उतरेगा. घेराव करने वालों में मोर्चा महासचिव आकाश पंवार, दिलबाग सिंह, मो. असद, डॉ. ओपी पंवार, ओपी राणा, दरबान सिंह, प्रवीण शर्मा, चै. मामराज, इदरीश, गजपाल रावत, विमला आर्य, जाबिर हसन, इसरार, कुंवर सिंह नेगी, रवि भट्टनागर, जयदेव नेगी, श्रवण गर्ग, सलीम मिर्जा आदि थे.