मायावती ने दी इस्तीफे की धमकी, सदन से किया वॉकआउट

नई दिल्ली, मंगलवार को राज्यसभा में बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने सहारनपुर में हिंसा का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में दलितों पर आए दिन अत्याचार हो रहे है. मायावती के इस आरोप से सत्तारुढ़ दल के सदस्य बिगड़ गए और सदन में शोर शराबा होने लगा. इस पर मायावती ने कहा कि अगर उन्हें बोलने नहीं दिया गया तो वह राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफ़ा दे देंगी.

नोंकझोंक के बीच मायावती ने सदन से वॉकआउट कर दिया. बहस के दौरान जन दल यूनाइटेड के शरद यादव ने भी मायावती का समर्थन किया. जब मायावती सदन से वॉकआउट करने लगीं तब कांग्रेस के दिग्विजय सिंह ने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन मायावती ग़ुस्से में बाहर चली गईं. दरअसल मायावती ने अचानक सहारनपुर का मसला उठा दिया और जब वह भाषण देने लगीं तभी उप सभापति ने बीच में टोककर उन्हें भाषण ख़त्म करने को कहा.

इस पर मायावती नाराज़ हो गई और उन्होंने इस्तीफ़े की धमकी दे दी. ग़ौरतलब है कि पिछले 5 मई को सहारनपुर के थाना बडगांव के शब्बीरपुर गांव में दलित और राजपूत समुदाय के बीच हिंसा हुई थी. इस जातीय हिंसा के दौरान पुलिस चौकी और 20 वाहन आग के हवाले कर दिए गए थे. कई स्थानों पर पथराव और झड़प की घटनाएं भी हुई थी. इस घटना के एक दिन बाद दो पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया था.