पतंजलि के बाद योग गुरु बाबा रामदेव की “पराक्रम सुरक्षा प्राइवेट लि”

फाइल चित्र - बाबा रामदेव

गुरुवार को रामदेव ने हरिद्वार में पराक्रम सुरक्षा प्राइवेट लि. नाम से अपनी प्राइवेट सिक्यॉरिटी फर्म की शुरुआत कर दी. पतंजलि के सूत्रों ने बताया कि कंपनी ने आर्मी और पुलिस के रिटायर्ड कर्मियों को बतौर प्रशिक्षक बहाल किया है.

योग गुरु बाबा रामदेव की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कंपनी की लक्ष्य युवाओं में देशभक्ति की भावना का संचार करना और प्रशिक्षण पानेवालों के शारीरिक एवं मानसिक विकास के अनुकूल माहौल तैयार करना है. बाबा रामदेव ने ‘पराक्रम सुरक्षा, आपकी रक्षा’ के नारे के साथ कंपनी का उद्घाटन किया और कहा, ‘पतंजलि ने लोगों को योग, आयुर्वेद एवं स्वदेशी (उत्पादों) के प्रति जागरूक किया है. हमारा लक्ष्य लोगों में सुरक्षा की भावना भरना और हमारे देश की रक्षा के लिए काम करना है.’ इस साल के आखिर तक कंपनी की देशभर में शाखाएं होंगी.

पिछले कुछ सालों में प्राइवेट सिक्यॉरिटी बिजनस में शानदार तेजी आई है. भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) की स्टडी के मुताबिक, अभी करीब 40,000 करोड़ रुपये के बिजनस का यह सेक्टर साल 2020 तक बढ़कर 80,000 करोड़ रुपये तक कारोबार करेगा.

पतंजलि योगपीठ के सूत्रों के अनुसार, नई कंपनी न केवल विभिन्न संस्थानों और केंद्रों को सेवा मुहैया कराएगी, बल्कि कॉर्पोरेट ऑफिस, इंडिविजुअल और शॉपिंग मॉल भी इसकी सेवा ले सकेंगे. हरिद्वार के पतंजलि सेंटर में पिछले एक महीने से 100 लोगों का पहला बैच प्रशिक्षण पा रहा है. सूत्रों ने बताया कि यहां हर महीने 100 लोगों को प्रशिक्षित किया जाएगा.