लेविस ने फिर किया धमाल, वेस्टइंडीज ने एकमात्र टी20 में भारत को पीटा

किंग्सटन।… एक साल पहले लॉडरहिल में भारतीयों को अपने तूफानी तेवरों को अवगत कराने वाले इविन लेविस ने एक बार फिर से उसी अंदाज में बल्लेबाजी करके जोरदार शतक जड़ा, जिससे विश्व चैंपियन वेस्टइंडीज रविवार को किंग्सटन के मैदान में एकमात्र ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारत को नौ विकेट से हराने में सफल रहा.

पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर कप्तान विराट कोहली (22 गेंदों पर 39 रन) और शिखर धवन (12 गेंदों पर 23 रन) ने पहले विकेट के लिए 64 रन जोड़कर टीम को अच्छी शुरुआत दिलायी. इन दोनों के तीन गेंदों के अंदर पवेलियन लौटने के बाद दिनेश कार्तिक (29 गेंदों पर 48 रन) और ऋषभ पंत (35 गेंदों पर 38 रन) ने तीसरे विकेट के लिए 86 रन की साझेदारी की. इससे भारत ने छह विकेट पर 190 रन बनाए.

लेविस ने 62 गेंदों पर नाबाद 125 रन बनाए, जिसमें छह चौकों के अलावा 12 गगनदायी छक्के शामिल हैं. उन्होंने क्रिस गेल (18) के साथ पहले विकेट के लिए 50 गेंदों पर 82 रन जोड़े और फिर मर्लोन सैमुअल्स (नाबाद 36) के साथ दूसरे विकेट के लिए 61 गेंदों पर 112 रन की अटूट साझेदारी की. उनकी इस धांसू पारी से वेस्टइंडीज ने 18.3 ओवर में एक विकेट पर 194 रन बनाकर जीत दर्ज की.

भारत का इस तरह से वेस्टइंडीज का इस दौरे का अंत हार के साथ हुआ, जिसमें उसने वनडे सीरीज 3-1 से जीती थी. लॉडरहिल में पिछले साल अगस्त में 49 गेंदों पर 100 रन बनाने वाले लेविस ने टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना दूसरा शतक बनाया और वेस्टइंडीज की तरफ से इस प्रारूप में सबसे बड़ी व्यक्तिगत पारी का गेल का रिकॉर्ड तोड़ा. यही नहीं वह कैरेबियाई टीम की तरफ से एक पारी में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाज भी बने.

भुवनेश्वर ने अपने पहले दो ओवर में किफायती गेंदबाजी की, जबकि उनके साथ गेंदबाजी का आगाज करने वाले रविचंद्रन अश्विन पर गेल ने छक्का जड़ा. भारत को हालांकि नुकसान लेविस ने पहुंचाया. बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने मोहम्मद शमी का स्वागत लगातार तीन चौके लगाकर किया और फिर अश्विन के अगले ओवर में दो गगनदायी छक्के जड़े.

भुवनेश्वर को फिर से गेंद सौंपी गई, लेकिन इस बार लेविस ने उन्हें भी नहीं बख्शा. उनकी करिश्माई बल्लेबाजी से वेस्टइंडीज ने पावरप्ले के छह ओवरों में 66 रन बना दिए थे. लेविस ने इसके बाद कुलदीप यादव की पहली गेंद लांग आन पर छह रन के लिए भेजकर 24 गेंदों पर अपना पचासा पूरा किया. कार्तिक ने इस ओवर में उन्हें जीवनदान दिया.

अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे कुलदीप ने अपने अगले ओवर में गेल के रूप में अपना पहला विकेट लिया जो पहले विकेट की साझेदारी के दौरान लेविस की बल्लेबाजी का ही लुत्फ उठाते रहे. कुलदीप की गेंद गेल के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर हवा में लहरा गयी और बाकी काम विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने पूरा कर दिया. गेल ने 20 गेंदें खेली तथा एक चौका व एक छक्का लगाया.

लेविस पर इसका कोई असर नहीं पड़ा और उन्होंने लंबे शॉट खेलने जारी रखे. पारी के 11वें ओवर में शमी की पहली गेंद पर छक्के से उन्होंने वेस्टइंडीज का स्कोर 100 रन के पार पहुंचा दिया था. शमी प्रभाव छोड़ने में पूरी तरह से नाकाम रहे. सैमुअल्स ने भी उनके एक ओवर में 16 रन बटोरे. भारत को रविंद्र जडेजा से उम्मीद थी, लेकिन लेविस ने उन पर लगातार दो छक्के लगाए और फिर 53 गेंदों पर अपना सैकड़ा पूरा किया. वह टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दो शतक लगाने वाले दुनिया के तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं. इसके बाद भी लेविस ने भारतीय गेंदबाजों पर कोई रहम नहीं दिखाया. जडेजा के अगले ओवर में उन्होंने दो छक्के लगाकर वेस्टइंडीज की आसान जीत सुनिश्चित की. उन्होंने इसी गेंदबाज पर विजयी छक्का भी लगाया.

इससे पहले कोहली और धवन ने भारत को तूफानी शुरुआत दिलायी और पहले पांच ओवर में ही स्कोर 54 रन पर पहुंचा दिया. इन दोनों ने सैमुअल बद्री के पारी के पहले ओवर में तीन चौके जड़कर अपने तेवर दिखा दिए थे. कोहली ने इसके बाद जेरोम टेलर और केसरिक विलियम्स का स्वागत भी दो-दो चौके लगाकर किया. भारतीय कप्तान ने विलियम्स पर पारी का पहला छक्का भी लगाया.

भारत ने हालांकि विलियम्स के इस ओवर में दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए. कोहली ने मिड ऑन पर खड़े सुनील नारायण को कैच का अभ्यास कराया तो धवन रन आउट होकर पवेलियन लौटे. कोहली ने सात चौके और एक छक्का जबकि धवन ने पांच चौके लगाए.

इसके बाद कार्तिक और ऋषभ पंत ने अच्छी तरह से जिम्मेदारी संभाली. इनमें से कार्तिक ने अधिक तेजी से रन बटोरे. उन्होंने मर्लोन सैमुअल्स पर छक्का लगाने के बाद अगली गेंद चार रन के लिए भेजी और फिर कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट के एक ओवर में फाइन लेग और स्क्वायर लेग पर दो छक्के जमाए. ऋषभ पंत ने उनसे प्रेरणा लेकर सैमुअल्स की गेंद छह रन के लिए भेजी.

अपनी पारी में पांच चौके और तीन छक्के लगाने वाले कार्तिक हालांकि अर्धशतक पूरा नहीं कर पाए और सैमुअल्स के इस ओवर में गुडलेंथ गेंद पर उन्होंने अपने विकेट खुले छोड़ दिए और बोल्ड होकर पवेलियन लौटे. टेलर ने अगले ओवर में महेंद्र सिंह धोनी (दो) और पंत को आउट किया, जिन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया.

आखिर में रविंद्र जडेजा (नाबाद 13) और रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 11) ने टीम का स्कोर 190 रन तक पहुंचाया. वेस्टइंडीज की तरफ से टेलर और विलियम्स ने दो-दो विकेट लिए.