हल्द्वानी: खालसा इण्टर कालेज ने धूमधाम से मनाया पर्यावरणविद् स्व0 सरदार जगत सिंह का जन्मदिवस

जाने माने पर्यावरणविद्, कवि, लेखक एवं छायाकार स्व0 सरदार जगत सिंह के जन्मदिवस के अवसर पर उनके परिजनों द्वारा स्व0 जगत सिंह की स्मृति में खालसा गल्र्स इण्टर कालेज में आयोजित कार्यक्रम में मेयर डा0 जोगेन्द्र पाल सिह रौतेला ने उनके चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धाजंलि दी. मुख्य अतिथि श्री रौतेला ने खालसा इण्टर कालेज की इण्टमीडिएट की टाॅपर छात्रा तनीषा राजोरी को पांच हजार की नकद धनराशि एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया.

गौरतलब है कि स्व0 जगत सिंह के परिजनों द्वारा विगत 05 वर्षों से खालसा विद्यालय की टाॅपर छात्रा को यह सम्मान दिया जाता है. जाने माने पर्यावरणविद्, कवि, लेखक एवं छायाकार स्व0 सरदार जगत सिंह के जन्मदिवस के अवसर पर उनके परिजनों द्वारा स्व0 जगत सिंह की स्मृति में खालसा गल्र्स इण्टर कालेज में आयोजित कार्यक्रम में मेयर डा0 जोगेन्द्र पाल सिह रौतेला ने उनके चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धाजंलि दी.

मुख्य अतिथि श्री रौतेला ने खालसा इण्टर कालेज की इण्टमीडिएट की टाॅपर छात्रा तनीषा राजोरी को पांच हजार की नकद धनराशि एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया. गौरतलब है कि स्व0 जगत सिंह के परिजनों द्वारा विगत 05 वर्षों से खालसा विद्यालय की टाॅपर छात्रा को यह सम्मान दिया जाता है.

सम्बोधित करते हुए मेयर डा0 जोगेन्द्र पाल सिह रौतेला ने कहा कि स्व0 जगतसिंह बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे. उनके द्वारा पर्यावरण सुरक्षा के लिए किये गये कार्यों तथा हल्द्वानी को ग्रीन सिटी बनाने की दिशा में कार्य किया गया. उन्होने कहा हल्द्वानी में जगह-जगह वृक्षारोपण कर शहर में हरियाली को बरकरार रखा गया है. उन्होने विद्यार्थियों से कहा कि यह जीवन का प्राइम टाइम है यही अवस्था में सभी ज्ञानवर्जन किया जाता है. यही से विद्यार्थी को सेवा में जाना तय करना होता है इसलिए अपनी क्षमताओं को पहचान कर कार्य करें तभी उच्च स्थान प्राप्त होगा.

विशिष्ट अतिथि श्री योगेश मिश्रा ने कहा कि आजादी के बाद 1950 में सरदार जगत सिंह द्वारा हल्द्वानी में कला भवन नाम से फोटो स्टूडियो की स्थापना की थी. स्व0 जगत सिंह एक महान छायाकार, समाजसेवी एवं पर्यावरणविद् होने के साथ ही एक अच्छे कवि और लेखक भी थे. उन्होने जगत पे्ररणा, रामनाम की महिमा, वृक्ष, हरिनाम रामनाम अनमोल भजन नामक पुस्तकें लिखी. वह एक मशहूर शायर भी थे. श्री मिश्रा ने कहा कि उनके सानिध्य में स्वयं उन्होने फोटोग्राफी कला सीखी. श्री मिश्रा ने बताया कि बतौर फोटोग्राफी प्रशिक्षक उन्होनें लगभग 20 हजार बेरोजगारों को फोटोग्राफी का पाठ पढ़ाया, जिसमें से काफी लोग फोटोग्राफी व्यवसाय में स्थापित हैं. श्री मिश्रा ने कहा कि स्व0 जगत सिंह उनके आदर्श एवं प्रेरणाश्रोत हैं.  स्व0 जगतसिह के पुत्र लखबीर सिंह तथा सतिन्दर सिंह शम्मी द्वारा स्व0 जगत सिंह के जीवन परिचय के साथ ही उनके समाज के लिए किये गये कार्यों तथा उनके लिखी गयी पुस्तकों को विवरण प्रस्तुत किया. कार्यक्रम में पुरस्कृत छात्रा तनीषा राजौरी के पिता बीएल राजौरी, प्रधानाचार्य मुन्नी त्रिपाठी, सरदार हरजीत सिह सच्चर, मोहनपाल, रणजीत सिह आन्नद, जसवाल कोहली, लखवीर सिह, सतेन्दर कोहली, मोहिता काण्डपाल सहित अनेक विद्यालय की अध्यापिकायें मौजूद थी.