राहुल गांधी गुपचुप मिले चीनी राजदूत से, उठे सवाल

भारत में चीन के दूतावास की ओर से सोमवार को दावा किया गया कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने 8 जुलाई (शनिवार) को चीनी राजदूत लू झाओहुई से मुलाकात की थी. हालांकि बाद में चीनी दूतावास ने इस कथित मुलाकात से सबंधित जानकारी को अपनी वेबसाइट से हटा दिया. कांग्रेस की ओर से भी इस बात का खंडन किया गया कि राहुल ने ऐसी कोई मुलाकात की है. अब इसे लेकर कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या यह चीनी दूतावास की गलती से हुआ या फिर वाकई इस मुलाकात की जानकारी को छिपाया जा रहा है.

चीनी दूतावास की वेबसाइट पर बाकायदा जानकारी दी गई थी कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी चीनी राजदूत लू झाओहुई से मिले और मौजूदा द्विपक्षीय संबंधों को लेकर बात की. इस जानकारी का स्क्रीनशॉट भी मौजूद है, जिससे यह तो साफ हो जाता है कि यह जानकारी वाकई चीनी दूतावास की ओर से दी गई थी. लेकिन कुछ ही घंटों बाद इस जानकारी को वेवसाइट से हटा दिया गया. वहां क्लिक करने पर अब बताया जा रहा है कि यह पेज उपलब्ध नहीं है.

अब सवाल उठ रहा है कि अगर राहुल गांधी ने वाकई चीनी राजदूत से मुलाकात की है तो फिर इसे छुपाया क्यों जा रहा है, या फिर कोई मुलाकात हुई ही नहीं. ‘कन्फ्यूजन’ इसलिए भी बढ़ गया है, क्योंकि चीनी दूतावास की ओर से सिर्फ जानकारी हटाई गई है, सफाई में कुछ नहीं कहा गया है. लोग जानना चाहते हैं कि क्या ऐसी चीनी दूतावास के किसी कर्मचारी की गलती से हुआ या फिर इसकी वजह कुछ और है.