राज्य वासियों को नागरिक दायित्व निभाने चाहिए : सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

देहरादून, राज्य वासियों को नागरिक दायित्व निभाने चाहिए. यदि कहीं कुछ गलत हो रहा है, तो उसकी शिकायत अधिकारियों से करें. यदि अधिकारी समय पर उचित कार्यवाही नहीं करते हैं, तो कोई भी व्यक्ति मुख्यमंत्री से ऐसे अधिकारी की शिकायत कर सकता है.’’ मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्मदिवस पर सहसपुर विधानसभा के ग्राम भाऊवाला में आयोजित सम्मेलन में यह बात कही. इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने घोषणा की कि सहसपुर नहर का नाम डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर रखा जाएगा तथा इसके स्रोत पर डॉ.मुखर्जी के नाम पर एक जलाशय का निर्माण भी किया जाएगा. साइंस सिटी भी सहसपुर में ही विकसित की जाएगी. साइंस सिटी राज्य के लिए सम्मान का विषय है. सहसपुर में पहले से ही विभिन्न उच्च शिक्षा तथा तकनीकी संस्थान है. अतः साइंस सिटी हेतु यह एक उपयुक्त स्थान है. मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि सरकार ने लगभग साढे तीन माह का कार्यकाल पूरा कर लिया हैं.

तथा इस बीच हमने अनुभव किया है कि राज्य के पास सीमित संसाधन है, परंतु संसाधनों के सदुपयोग द्वारा राज्य का विकास सुनिश्चित किया जा सकता है. राज्य सरकार विकास के कार्यों में कोई बाधा उत्पन्न नहीं होने देगी. मुख्यमंत्री ने का कहा कि हमने अपने विधायकों को कहा है, कि प्रत्येक विधायक अपनी-अपनी विधानसभा में होने वाले विकास संबंधित कार्यों को निर्धारित करें. प्रत्येक विधायक अपने क्षेत्र की प्राथमिकता जनभागीदारी से तय करें. 98 प्रतिशत घोषणाओं को समयबद्ध रूप से पूरा किया जाएगा. मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता है कि सबसे पहले भ्रष्टाचार को समाप्त किया जाए तथा पारदर्शी तथा संतुलित विकास सुनिश्चित किया जाए. राज्य सरकार मात्र 2 प्रतिशत ब्याज दर पर लघु और सीमांत किसानों को ऋण उपलब्ध करवा रही है.

राज्य में माध्यमिक शिक्षा की स्थिति अच्छी है, परंतु हमें अपनी उच्च शिक्षा की गुणवत्ता सुधारनी होगी. इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा शीघ्र एन.आई.एफ.टी., एन.आई.आई.टी., प्लास्टिक टेक्नोलॉजी का संस्थान हॉस्पिटैलिटी यूनिवर्सिटी स्थापित किया जा रहा है. पिछले 100 दिनों में सरकार द्वारा राज्य के भविष्य का रोडमैप तैयार किया गया है. राज्य में डॉक्टरों की कमी पूरा करने हेतु हमने भारतीय सेना से सेवानिवृत्त सुपर स्पेशलिटी डॉक्टरों को उत्तराखंड में अपनी सेवाएं देने का अनुरोध किया था. यह अत्यंत प्रसन्नता की बात है कि अभी तक भारतीय सेना के 100 डॉक्टर्स ने उत्तराखंड के दूरस्थ क्षेत्रों में अपनी सेवाएं देने का प्रस्ताव रखा है.

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने बताया कि श्रीनगर मेडिकल कॉलेज तथा अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज को भारतीय सेना द्वारा संचालित किया जाएगा. इससे सैनिकों तथा जनसामान्य दोनों का लाभ मिलेगां डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्म दिवस की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी न केवल जनसंघ के संस्थापक थे अपितु वह एक प्रकांड विद्वान, महान शिक्षाविद् तथा मात्र 32 वर्ष की आयु में कलकत्ता विश्वविद्यालय के कुलपति बने. आज से 52 वर्ष पूर्व देहरादून के सहसपुर आए थे तथा सहसपुर नहर का उद्घाटन किया था. वह एक महान शिक्षाविद थे, परंतु उनका व्यक्तित्व अत्यंत सादगीपूर्ण था. इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने लगभग 15 करोड़ की घोषणाएं स्वीकृत की जिनमें राजावाला मोटर मार्ग पुनर्निर्माण, सहसपुर मोटर रोड निर्माण, नंदा की चैकी गाड़ी मोटर मार्ग निर्माण, नल कूप निर्माण, पाइपलाइन सुदृढ़ीकरण, नालियों का निर्माण आदि प्रमुख थी.