24 घंटे बाद भी नहीं खुला यमुनोत्री हाईवे, मलबा आने से पड़ा है बंद

जगह-जगह मलबा आने से दिल्ली-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग और कालसी-चकराता मोटर मार्ग पर वाहनों की आवाजाही ठप हो गई. कालसी-चकराता मोटर मार्ग पर जहां 12 घंटे बाद वाहनों की आवाजाही बहाल हो पायी.

वहीं, दिल्ली-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर 24 घंटे बाद भी वाहनों की आवाजाही ठप पड़ी है. सड़क बंद होने से लोगों को वाया जुड्डो सफर करना पड़ रहा है. राष्ट्रीय राजमार्ग पर सोमवार की रात नौ बजे जोकला और काली माता मंदिर के पास भारी मात्रा में मलबा आ गया.

इसकी वजह से सड़क पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से ठप हो गई. मंगलवार को पूरे दिन जेसीबी सड़क खोलने के कार्य में लगी रही बावजूद यातायात बहाल नहीं हो सका. उधर, कालसी-चकराता मोटर मार्ग पर भी रात 9 बजे जजरेट के पास भारी मात्रा में मलबा आ गया.

इससे सड़क पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से ठप हो गई. सड़क पर वाहनों की लंबी कतार लग गई. यात्रियों से भरे कई वाहन बीच सड़क पर फंसे रहे. फसलें भी सही समय पर मंडी तक नहीं पहुंच सकी.

सुबह 9 बजे वाहनों की आवाजाही बहाल हो सकी. वहीं कालसी-बैराटखाई मोटर मार्ग पर कोथीं-भौंदी के पास भारी मात्रा में मलबा आने से 20 गांव का संपर्क अन्य इलाकों से कट गया है.

पहले से बंद हैं ये मार्ग
बिजऊ बैंड-खतार-जोशीगांव, हईया-अलसी-पंजिया, लालपुल-बिरमऊ, पाटा बैंड-माख्टी, माख्टी-अच्छेड़-मटियावा मोटर मार्ग पर बीते रविवार की रात से आवाजाही ठप पड़ी है.