पश्चिम बंगाल: नॉर्थ 24 परगना में फेसबुक से फैला सांप्रदायिक तनाव

कोलकाता, पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले के बसीरहाट इलाके में एक ‘आपत्तिजनक’ फेसबुक पोस्ट की वजह से सांप्रदायिक तनाव फैल गया. हालात पर काबू पाने के लिए इलाके में बीएसएफ की चार टुकड़ियों को तैनात किया गया है.आईपीएस विनीत गोयल के नेतृत्व में एक स्पेशल पुलिस फोर्स भी नॉर्थ 24 परगना रवाना हो चुकी है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बसीरहाट सब-डिविजन के बादुड़िया इलाके में एक ‘आपत्तिजनक’ पोस्ट की वजह से दो समुदायों के सदस्यों में झड़प हो गई. स्थानीय सूत्रों के अनुसार बादुड़िया थाना क्षेत्र के रूद्रपुर गांव के एक युवक ने एक संप्रदाय विशेष के धर्मग्रंथ को लेकर फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट डाला था. इसके बाद उस संप्रदाय के लोग भड़क गए और युवक के घर पर हमला कर दिया. इसके बाद दोनों संप्रदाय के लोगों के बीच तनाव बढ़ गया. घटना की खबर पाकर जब पुलिस पहुंची तो लोगों ने पुलिस पर भी हमला कर दिया.

हालांकि पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया लेकिन कुछ लोगों ने युवक को थाने से जबरन छुड़ाने की कोशिश की. मंगलवार की सुबह संप्रदाय विशेष के लोग फिर से उग्र हो गए और इलाके में तनाव फैल गया. हिंसा के मद्देनजर कोलकाता और हावड़ा से रैफ की टुकड़ियां भी हालात पर काबू पाने के लिए भेजी गई हैं. दूसरी तरफ फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने वाले युवक को स्थानीय अदालत ने चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. इस बीच बीजेपी ने बदुरिया हिंसा के मद्देनजर केंद्र से दखल देने की मांग की है. बीजेपी ने आरोप लगाया कि नॉर्थ 24 परगना जिले में 2 हजार से ज्यादा मुस्लिमों ने हिंदू परिवारों पर हमला किया.

बीजेपी का आरोप है कि तमाम जगहों पर उसके दफ्तरों को भी आग के हवाले कर दिया गया. राज्य पुलिस पर हालात को नियंत्रण में न कर पाने का आरोप लगाते हुए बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मामले में दखल देने की मांग की है. विजयवर्गीय बीजेपी के पश्चिम बंगाल प्रभारी भी हैं. पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने बादुड़िया हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बातचीत की है. हालांकि ममता ने राज्यपाल पर धमकाने का आरोप लगाया है. वहीं, राज्य बीजेपी के नेताओं ने ममता बनर्जी सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है.