उत्तर कोरिया ने किया एक और मिसाइल का परीक्षण

सियोल|…. उत्तर कोरिया ने एक और मिसाइल परीक्षण किया है. यह मिसाइल जापान सीमा के समीप जाकर गिरा. इस परीक्षण की पुष्टि जापान और दक्षिण कोरिया ने की. दक्षिण कोरिया की सेना ने बताया कि प्योंगयांग ने एक ‘अज्ञात बलिस्टिक मिसाइल’ छोड़ा और वह मिसाइल जापान के पास समुद्र में जाकर गिरा. जहां एक तरफ अमेरिका नॉर्थ कोरिया को लगातार चेतावनी दे रहा है वहीं नॉर्थ कोरिया का परमाणु परीक्षण लगातार जारी है. हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बात की थी.

संयुक्त राष्ट्र में चीन के राजदूत ल्यू जेई ने कहा कि अगर उत्तर कोरिया ने तनाव को कम करने का रास्ता नहीं खोजा गया, तो इसके परिणाम बेहद गंभीर और विनाशकारी हो सकते हैं. चीन ने कहा कि अगर जल्द ही इस समस्या का समाधान नहीं तलाशा गया, तो स्थिति काबू से बाहर चली जाएगी. ल्यू ने कहा कि फिलहाल पश्चिमी देशों और उत्तर कोरिया के बीच बहुत ज्यादा तनाव है. हम चाहते हैं कि स्थितियां बेहतर हों. उन्होंने कहा कि अगर यह तनाव बढ़ता जाता है, तो देर-सवेर हालात काबू से बाहर चले जाएंगे और इसके नतीजे बेहद भयावह साबित होंगे.’

मालूम हो कि चीन उत्तर कोरिया का सहयोगी है. गौरतलब है कि चीन उत्तर कोरिया का साथ देता है. चीन का कहना है कि नॉर्थ कोरिया से बातचीत करके इस समस्या का समाधान खोजने की कोशिश की जानी चाहिए. अमेरिका चाहता है कि चीन उत्तर कोरिया पर दबाव बनाए और उसे परमाणु परीक्षण रोकने के लिए मजबूर करे.

चीन ने कहा था कि अगर अमेरिका और दक्षिण कोरिया अपना सैन्य अभ्यास रद्द कर देते हैं, तो इसके बदले प्योंगयांग अपनी सैन्य योजनाओं को रोक सकता है. अमेरिका ने पहले भी कहा था कि अगर चीन ने नॉर्थ कोरिया को रोकने में अमेरिका का साथ न दिया तो वो अकेले ही इसका समाधान निकालेंगे.