यह है देशभर में मानसून का हाल, गुजरात में मूसलाधार बारिश, उत्तराखंड में आज बरसेंगे बादल

गुजरात में शनिवार को मूसलाधार बारिश से जनजीवन काफी प्रभावित हुआ, जबकि हिमाचल प्रदेश में बारिश के कारण फिर से भूस्खलन हुआ. इस बीच, असम में बाढ़ के हालात गंभीर बने हुए हैं और देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में रविवार को और बारिश होने की संभावना है. गुजरात के मोरबी जिले के टनकारा तालुका में काफी कम समय में बहुत अधिक बारिश हुई. बारिश के कारण कई चेक डैम में जलस्तर अत्यंत अधिक हो गया जिससे भारी जलजमाव हो गया.

पिछले 24 घंटे में टनकारा में 280 मिमी बारिश दर्ज की गई. आपदा प्रबंधन विभाग की टीमों ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के जवानों की मदद से जिले में बाढ़ के पानी में फंसे करीब 14 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला.

बनासकांठा में सुइगम तालुका, गिर सोमनाथ में कोडिनार तालुका और देवभूमि द्वारका में कल्याणपुर में रात भर में 110 मिमी बारिश दर्ज की गई जिससे लोगों को यातायात संबंधी परेशानियां हुईं.

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा कि राज्य के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट पर रखा गया है. अहमदाबाद में 31 मिमी बारिश होने के बाद शहर के निचले इलाकों में जलजमाव है. दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में शुक्रवार रात एक गांव में बादल फटने की घटना में 17 साल के नौजवान की मौत हो गई.

इस बीच, कश्मीर घाटी को शेष भारत से जोड़ने के लिए हर मौसम में इस्तेमाल की जाने वाली एकमात्र सड़क 300 किलोमीटर लंबा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बारिश के कारण एक दिन बंद रहने के बाद शनिवार को वाहनों की आवाजाही के लिए फिर से खोला गया.

हिमाचल प्रदेश में बड़े पैमाने पर हुई बारिश से एक बार फिर भूस्खलन हुआ. कोकसर के पास मनाली-लेह सड़क बाधित हो गई. मौसम विभाग ने राज्य के मध्य एवं निचले पर्वतीय इलाकों में मध्यम से भारी बारिश होने का पूर्वानुमान किया है.

असम में बारपेटा, लखीमपुर, जोरहाट, करीमगंज, कछार, धेमाजी, कार्बी आंगलांग और विश्वनाथ जिलों में 2.68 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.

उत्तरी बिहार में भारी बारिश हुई जबकि दक्षिणी बिहार में पिछले 24 घंटे में हल्की से मध्यम बारिश हुई. मौसम विभाग ने मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में बहुत भारी बारिश होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है.

अरुणाचल प्रदेश, गंगाई पश्चिम बंगाल, ओड़िशा, झारखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, गोवा, छत्तीसगढ़ और तटीय कर्नाटक में बारिश की बौछार की ‘बहुत संभावना’ है.