आज फिर आमने-सामनें होंगी भारत-पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें, दुआओं में उठे हाथ

क्रिकेट के मैदान पर भारत और पाकिस्तान के बीच भिड़ंत खास होती है और दुनियाभर की निगाहें इस पर लगी होती हैं. जून में ही हमने टीम इंडिया और पाकिस्तान को क्रिकेट के मैदान पर दो बार टकराते देखा और इन मैचों ने दर्शक संख्या के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए.

क्रिकेट के मैदान पर ही दोनों टीमें एक बार फिर से रविवार को भारतीय समयानुसार दोपहर तीन बजे से दो-दो हाथ करती दिखेंगी, वह भी आईसीसी के ही बड़े टूर्नामेंट में एक फिर ऐसा होगा. इस बार फर्क बस इतना है कि यह दोनों देशों की पुरुष नहीं, बल्कि महिला क्रिकेट टीमें होंगी, जो इंग्लैंड की धरती पर खेले जा रहे महिला वर्ल्ड कप में भिड़ेंगी.

भारत और पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीमों के बीच यह मुकाबला डर्बी के काउंटी ग्राउंड पर होगा. टीम इंडिया की नजरें हाल ही में चैंपियंस ट्रॉफी में पुरुष टीम को पाक टीम के हाथों मिली करारी हार का बदला लेने पर भी रहेगी. ऐसे में एक बार फिर करोड़ों भारतीय फैन टीम की जीत के लिए दुआ करेंगे.

महिला क्रिकेट में पाकिस्तान टीम को टीम इंडिया के खिलाफ जीत का इंतजार है. भारतीय महिला टीम और पाकिस्तान महिला टीम के बीच साल 2005 से साल 2017 के बीच कुल 9 वनडे खेले गए है, जिनमें से पाकिस्तान को सभी में हार मिली है. गौरतलब है कि पुरुषों के बीच ओवरऑल रिकॉर्ड में पाकिस्तान टीम भारत पर हावी है, लेकिन आईसीसी टूर्नामेंट खासतौर से वनडे और टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान टीम कभी भी नहीं जीत पाई है. चैंपियंस ट्रॉफी में जरूर उसका रिकॉर्ड बेहतर है.

वैसे तो मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला टीम काफी मजबूत है. उसका प्लस पॉइंट यह है कि मिताली का मिजाज बेहद शांत और वह ‘कूल’ फैसले लेती हैं. ऐसे में वह भारतीय महिला टीम पर मनोवैज्ञानिक दबाव नहीं आने देंगी, लेकिन उनको भी विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया की तरह अतिआत्मविश्वास से बचना होगा. अन्यथा अपना दिन होने पर पाक टीम एक बार फिर उलटफेर कर सकती है. भारत के पास मिताली राज, झूलन गोस्वामी, हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना जैसे विश्वस्तरीय खिलाड़ी है, जो भारत को इस मैच में जीत दिला सकती हैं.