हल्द्वानी : टैक्सी चालक की मौत मामले में कोतवाल लाइन हाजिर

हल्द्वानी, करीब एक माह पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हुए पिथौरागढ़ बूंगा गांव निवासी टैक्सी चालक देवेन्द्र सिंह मेहता के परिजनों द्वारा पुलिस पर लगाये गये संवेदनहीनता व उन्हें सूचित किये बिना देवेन्द्र की अंत्येष्टि कर देने के मामले में पुलिस द्वारा बरती गयी हीलाहवाली पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मजेय खंडूरी ने कड़ा रूख अखित्यार करते हुए जहां कोतवाल नरेश चैहान को लाइन हाजिर कर दिया है वहीं मेडिकल चैकी इंचार्ज बीसी मासीवाल व एक सिपाही को निलंबित कर दिया है. साथ ही मुखानी एसओ केआर पांडेय को शहर का नया कोतवाल नियुक्त किया है. एसएसपी के पीआरओ कमाल हसन को मुखानी का नया एसओ बनाया गया है.

यहां बता दें कि बीते 28 मई को 40 वर्षीय टैक्सी चालक देवेन्द्र सिंह नेगी पिथौरागढ़ से हल्द्वानी के लिए चला. टैक्सी चालक के भाई ललित सिंह ने बताया कि दूसरे दिन जब कुछ लोगों का बुकिंग के लिए फोन आया तो उन्होंने देवेन्द्र को खोजना शुरू किया. काफी खोजबीन के बाद उसकी गाड़ी शीशमहल हल्द्वानी में खड़ी मिली. जिस पर ललित ने 30 मई को भोटिया पड़ाव चैकी में गुमशुदगी भी दर्ज करा दी.

तब से वे जब भी हल्द्वानी आये पुलिस उन्हें ढूंढने की बात कहकर बेवकूफ बनाती रही. ललित के अनुसार घटना को एक माह बाद यानि 29 जून को भोटिया पड़ाव चैकी से परिजनों को फोन कर हल्द्वानी बुलाया गया तो उन्हें देवेन्द्र की मौत की सूचना दी. वहीं पुलिस ने परिजनों को बताया कि देवेन्द्र की अंत्येष्टि कर दी गयी है. जिस पर परिजनों के होश फाख्ता हो गये.