इंडिगो का हो सकता है एयर इंडिया

नई दिल्ली, भारी कर्ज से दबी सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया के विनिवेश को गुरुवार को देश की मार्केट शेयर के लिहाज से सबसे बड़ी कंपनी इंडिगो से सपोर्ट मिला है. कैबिनेट ने बुधवार को एयर इंडिया को बेचने की मंजूरी दी थी और इसके एक दिन बाद इंडिगो ने इसमें हिस्सेदारी खरीदने में दिलचस्पी दिखाई.

एविएशन सेक्रेटरी आर एन चौबे ने रिपोर्टर्स को बताया, ‘एयर इंडिया में स्टेक खरीदने में इंडिगो ने इंटरेस्ट दिखाया है. उसने हमें इस बारे में लेटर लिखा है.’ सिविल एविएशन मिनिस्ट्री को अब तक किसी और कंपनी की तरफ से लिखित में ऐसा ऑफर नहीं मिला है. चौबे ने कहा कि टाटा ग्रुप सहित किसी अन्य कंपनी ने ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं भेजा है.

हालांकि, जूनियर एविएशन मिनिस्टर जयंत सिन्हा ने कहा कि कई एयरलाइंस ने अनौपचारिक तौर पर एयर इंडिया के प्राइवेटाइजेशन के बारे में पूछताछ की है. एयर इंडिया पर 50,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है. पहले ऐसी खबरें आई थीं कि टाटा ग्रुप सरकारी विमानन कंपनी को खरीद सकता है.