उत्तराखंड को मिला ‘अमृत’, कई परियोजना स्वीकृत; 44.5 करोड़ रुपये जारी

केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने गुरुवार को कहा कि उत्तराखंड में संचालित अटल शहरी परिवर्तन मिशन (अमृत) की सभी कार्ययोजनाएं स्वीकृत की जा चुकी हैं, जिसमें होने वाले कुल 593 करोड़ रुपये के निवेश में से 534 रुपये करोड़ के ‌केंद्रांश की पहली किश्त में से 44.5 करोड़ रुपये का स्वीकृति पत्र गुरुवार को उन्होंने राज्य सरकार को सौंप दिया है.

उत्तराखंड के शहरी क्षेत्रों में संचालित कार्यक्रमों की समीक्षा करने के बाद यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में नायडू ने कहा, ‘अमृत मिशन के अन्तर्गत राज्य में कुल 593 करोड़ रुपये का निवेश होना है जिसमें से 534 करोड़ रुपये केंद्रांश के तौर पर स्वीकृत हुई है. इसके सापेक्ष 107 करोड़ रुपये की धनराशि राज्य सरकार को प्रथम किश्त के रूप में अवमुक्त की गयी है. मैंने आज 44.5 करोड जारी होने का स्वीकृति पत्र राज्य सरकार को सौंप दिया है.’

उत्तराखंड द्वारा संपूर्ण नगरीय क्षेत्रों को अगले साल 31 मार्च तक खुले में शौच से मुक्त बनाए जाने पर प्रसन्न्ता जाहिर करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के तहत राज्य को आवंटित 117.81 करोड़ रुपये के सापेक्ष वर्तमान तक कुल 14.40 करोड़ रुपये की धनराशि अवमुक्त की जा चुकी है.

उन्होंने कहा कि उन्होंने गुरुवार को 3.28 करोड़ रुपये की अतिरिक्त धनराशि निर्गत करने के भी आदेश दिए हैं तथा राज्य सरकार को मिशन अन्तर्गत प्रस्ताव देने पर आवश्यक सहयोग का आश्वासन भी दिया है.

नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उत्तराखंड के समस्त 92 शहरों के आवासहीन लोगों को आवास उपलब्ध कराने हेतु 80,000 आवास लेने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

उन्होंने बताया कि अब तक इसके तहत 31 परियोजनाएं स्वीकृत की जा चुकी हैं जिनकी कुल लागत 304 करोड़ रुपये है. मंत्री ने बताया कि इसमें से केंद्र का योगदान 67 करोड़ रुपये है जिसमें से 28 करोड़ रुपये की धनराशि राज्य सरकार को दी जा चुकी है.