नैनीताल : कुमाऊं विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अमेरिकी हैकर्स का हमला

नैनीताल, अमेरिकी हैकर का देवभूमि उत्तराखंड में भी आतंक छाने लगा है. लगातार हैकर वेबसाइट को निशाना बना रहे हैं. इस साइबर अपराध ने विश्वविद्यालय प्रशासन की नींद उड़ा दी है. कुमाऊं विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अमेरिकी हैकर लगातार निशाना बना रहे हैं. बीते दो दिनों में 228 बार साइबर हमला कर वेबसाइट को नुकसान पहुंचाने की कोशिश का विश्वविद्यालय की तकनीकी टीम ने खुलासा किया है. जिससे विश्वविद्यालय प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

उल्लेखनीय है कि आईआईटी रुड़की के विशेषज्ञों की देखरेख में सॉफ्टवेयर तैयार कराने वाले डॉ. महेंद्र राणा ने सोमवार को कुलपति प्रो. डीके नौडियाल को सौंपी रिपोर्ट में बताया है कि एडमिशन वेबसाइट पर 19 जून को अमेरिका से हैकर ने 128 बार निशाना बनाया गया. बता दें कि विवि प्रशासन ने पहली बार कुमाऊं विवि व संबद्ध परिसरों के लिए ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू कराई है. इसके लिए 15 जून को वेबसाइट लांच की गई थी. कुछ छात्र संगठन इस प्रक्रिया का विरोध कर रहे हैं. चर्चा है कि विवि के कुछ लोग भी नहीं चाहते कि प्रवेश प्रक्रिया ऑनलाइन हो. इसके पीछे तर्क दिया जा रहा है कि पहाड़ के दुर्गम, दूरस्थ क्षेत्र जहां नेटवर्क की सुविधा नहीं है, वहां के छात्रों के लिए यह प्रणाली सिरदर्द है. तमाम विरोध व वेबसाइट पर हैकरों के हमलों के बावजूद अब तक चार हजार पांच सौ छात्रों ने ऑनलाइन एडमिशन के लिए पंजीकरण करा लिया है.

मामले में विधिक कार्रवाई भी की जाएगी कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डीके नौडियाल ने कहा कि विवि की वेबसाइट पर साइबर अटैक की जानकारी मिली है. सॉफ्टवेयर तैयार करने में पूरी सावधानी बरती गई है. गौरतलब है कि कुमाऊं विश्वविद्यालय ने पहले दिन इसे किसी हैकर की शरारत मानकर मामले को नजरअंदाज किया गया, लेकिन सोमवार को फिर अमेरिका में बैठे हैकर ने सुबह से दोपहर तक वेबसाइट पर 100 बार हमला कर प्रोग्रामिंग को भारी नुकसान पहुंचाया का प्रयास किया गया.