रुड़की : हाईवे पर गहरे गड्ढे में डूबने से बच्‍चे की मौत, एक को बचाया गया

रुड़की, एडीबी की तरफ से रामपुर चुंगी के पास हाईवे पर खोदे गए सीवर लाइन के गड्ढे में डूबने से आठ साल के बच्‍चे की मौत हो गई, जबकि एक अन्य किशोर को बचा लिया गया.सिविललाइंस कोतवाली क्षेत्र के पठानपुरा कालोनी निवासी नवाब का आठ साल का बेटा शारीक आज अपने नाना के यहां आया था. बुधवार की  (आज) सुबह भारी बारिश के चलते रामपुर चुंगी के पास भारी जलभराव हो गया था. रामपुर चुंगी के पास ही एडीबी की तरफ से सीवरेज लाइन बिछाने के लिए करीब 15 फुट गहरा गड्ढा खोदा गया है. इस जलभराव से निकलने के लिए लोग ट्रैक्टर पर सवार होकर निकल रहे थे. दोपहर करीब पौने दो बजे शारीक, सलमान और सुलेमान समेत कुछ बच्चे सड़क पर हुए जलभराव से निकल रहे थे.

इसी बीच एक ट्रैक्टर बड़ी तेजी से वहां से होकर निकला. जिसे पानी का तेज बहाव की चपेट में आने से शारीक और सुलेमान हाईवे पर बने गहरे गड्ढे में गिर गए और डूबने लगे. वहां पर खड़े अब्दुला ने सुलेमान को तो बचा लिया, लेकिन शारीक गड्ढे में डूब गया. शारीक को बचाने के लिए गुलाबनगर का युवक सलमान कमर पर रस्सी बांधकर गहरे गड्ढे में उतर गया और करीब 20 मिनट बाद शारीक को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने शव हाईवे पर रखकर जाम लगा लिया. लोगों ने नारेबाजी करते हुए लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई की मांग की. सूचना पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट मयूर दीक्षित, गंगनहर प्रभारी अमर चंद शर्मा, इंस्पेक्टर सिविललाइंस ऐश्वर्य पाल मौके पर पहुंचे. ज्वाइंट मजिस्ट्रेट मयूरी दीक्षित ने मृतक के परिवार को मुआवजा और इस मामले में लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई का आश्वासन देकर मामला शांत कराया. इंस्पेक्टर अमर चंद शर्मा ने बताया कि शव पोस्टमार्टम को भेजा गया है. तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जायेगा.